अगर शरीर के इन 3 हिस्‍सों पर दिख रहें हैं ऐसे लक्षण, तो समझ लीजिए शरीर में बढ़ रहा है कोलेस्ट्रॉल

cholesterol levels
Creative Commons licenses
आंखों के नीचे के त्वचा पर नारंगी, पीले रंग या धब्बे नजर आना, आपके कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत है। इसके अलावा अगर आपके हथेलियों और आपके पैर के निचले हिस्से पर भी इस तरह का रंग या लाइन दिखे तो समझ जाईए ये कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का गंभीर संकेत हैं।

कुछ सालों से भारत में कोलेस्ट्रॉल की समस्या आम समस्या के रूप में सामने आई है। कोलेस्ट्रॉल के साथ एक खास बात ये है की ये जब भी आपके शरीर में अधिक होता है उसके संकेत शरीर के तीन हिस्से में अवश्य नजर आते हैं। ये तीन अंग हैं:- आंख, स्किन और हाथ। आपको बता दें कि कोलेस्ट्रॉल एक मोमी पदार्थ है, जो धमनियों के अंदर जमा होकर खून के प्रवाह को बुरी तरह से प्रभावित करता है। जिसका सीधा असर दिल(हृदय) पर पड़ता है। आपको जानकर ताज्जुब नहीं करना चाहिए कि दिल का दौरा जिसे स्ट्रोक कहतें है, ज्यादा मामलों में कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने पर ही आते हैं। हालांकि, शरीर में जैसे-जैसे लिपिड का स्तर बढ़ने लगता है, संकेत शरीर पर उभरने लगते हैं और दिखने भी लगते हैं।

त्वचा पर निशान:- 

आंखों के नीचे के त्वचा पर नारंगी, पीले रंग या धब्बे नजर आना, आपके कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का संकेत है। इसके अलावा अगर आपके हथेलियों और आपके पैर के निचले हिस्से पर भी इस तरह का रंग या लाइन  दिखे तो समझ जाईए ये कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का गंभीर संकेत हैं। ऐसा होने पर आपको तुरंत डॉक्टर से दिखाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: ऑफिस में कुर्सी पर बैठे-बैठे की जा सकती हैं यह एक्सरसाइज

आंखों पर कोलेस्ट्रॉल के संकेत:-

जिस किसी व्यक्ति में कोलेस्ट्रॉल लेवल अधिक होता है उसकी आंखों के कॉर्निया की बाहर के साइड पर जरूर गौर करना चाहिए क्योंकि इसके ऊपर और नीचे नीले या सफेद रंग की गुंबद या दाने जैसी आकृति धीरे-धीरे बनने लगती है। ये खास लक्षण बताता है कि आपमें कोलेस्ट्रॉल अपने सीमा से कहीं ज्यादा बढ़ चुका है और इस स्थिति में दिल के दौरा पड़ने का ज्यादा खतरा होता है।

इसे भी पढ़ें: हाई ब्लड प्रेशर को तुरंत कंट्रोल करेंगे यह नुस्खे

हाथों में दर्द और दर्द रहित दाने:-

अगर अक्सर आपके हाथों में दर्द की समस्या बनी रहती है या हाथ पर वसायुक्त क्रीम या सफेद रंग के दाने या घाव नजर आते हैं तो समझ लीजिए ये हाई कोलेस्ट्रॉल का ही लक्षण है। दरअसल, जब भी हमारी धमनियों के अंदर की परत में प्लाक यानी फैट जमा होता है तो आपको समझना चाहिए कि ये फैट युक्त पदार्थ और कैल्शियम से बनता है। जिसकी वजह से रक्त के प्रवाह में बाधा उतपन्न होने लगता है। इस स्थिति में ही एथेरोस्क्लेरोसिस जैसी स्थिति पैदा होने लगती है।

तो आपको सलाह है की अगर ये उपयुक्त लक्षण नजर आते हैं तो तुरंत कोलेस्ट्रॉल की जांच कराएं और डॉक्टर से मिलकर  इसका इलाज करवाएं।

- मृगेंद्र प्रताप सिंह

डिस्क्लेमर: इस लेख के सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन सुझावों और जानकारी को किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर न लें। किसी भी बीमारी के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

अन्य न्यूज़