ब्रिटेन ने स्विफ्ट बैंकिंग नेटवर्क से रूस को बाहर करने को चलाया अभियान

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 27, 2022   08:01
ब्रिटेन ने स्विफ्ट बैंकिंग नेटवर्क से रूस को बाहर करने को चलाया अभियान

ब्रिटेन का कहना है कि यूक्रेन पर आक्रमण करने के लिए रूस के खिलाफ कड़े वित्तीय प्रतिबंधों के तहत ऐसा किया जाना चाहिए। सोसाइटी फॉर वर्ल्डवाइड इंटरबैंक फाइनेंशियल टेलीकम्युनिकेशन (स्विफ्ट) दुनिया की प्रमुख बैंकिंग संदेश सेवा है, जो भारत सहित 200 से अधिक देशों में लगभग 11,000 बैंकों और वित्तीय संस्थानों को जोड़ती है।

लंदन|  रूस को दुनिया भर में स्विफ्ट बैंकिंग नेटवर्क से बाहर करने के लिए ब्रिटेन सरकार ने यूरोप में अभियान चलाया है।

ब्रिटेन का कहना है कि यूक्रेन पर आक्रमण करने के लिए रूस के खिलाफ कड़े वित्तीय प्रतिबंधों के तहत ऐसा किया जाना चाहिए। सोसाइटी फॉर वर्ल्डवाइड इंटरबैंक फाइनेंशियल टेलीकम्युनिकेशन (स्विफ्ट) दुनिया की प्रमुख बैंकिंग संदेश सेवा है, जो भारत सहित 200 से अधिक देशों में लगभग 11,000 बैंकों और वित्तीय संस्थानों को जोड़ती है।

बेल्जियम स्थित इस प्रणाली को वैश्विक वित्त व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है और अगर रूस इससे बाहर होता है, तो यह उसके लिए एक बड़ा झटका साबित होगा।

ब्रिटेन के इस प्रस्ताव पर कनाडा और कुछ अमेरिकी सांसद उसके साथ हैं, लेकिन यूरोपीय संघ (ईयू) के भीतर इस पर असहमति है, क्योंकि इससे तेल और गैस के लिए भुगतान प्रभावित होगा।

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री कार्यालय ने शुक्रवार को नाटो नेताओं के साथ प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की बैठक का हवाला देते हुए कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने नेताओं से राष्ट्रपति पुतिन और उनके शासन को सबक सिखाने के लिए स्विफ्ट के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने का आग्रह किया।’’

ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस ने बीबीसी को बताया, ‘‘ब्रिटेन चाहता है कि रूस के लिए स्विफ्ट सिस्टम को बंद कर दिया जाए, लेकिन दुर्भाग्य से स्विफ्ट प्रणाली हमारे नियंत्रण में नहीं है। इस पर एकतरफा फैसला नहीं किया जा सकता।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...