कोरोना वायरस: 30 साल से कम उम्र के लोगों को गैर एस्ट्राजेनेका टीके की पेशकश की जाएगी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 8, 2021   09:01
  • Like
कोरोना वायरस: 30 साल से कम उम्र के लोगों को गैर एस्ट्राजेनेका टीके की पेशकश की जाएगी

ब्रिटेन के औषधि नियामक ने कहा है कि कोरोना वायरस रोधी एस्ट्राजेनेका टीके के व्यापक लाभ हैं, लेकिन रक्त में थक्के बनने के दुर्लभ मामलों के चलते 30 साल से कम उम्र के लोगों को दूसरे टीके की पेशकश की जाएगी।

लंदन। ब्रिटेन के औषधि नियामक ने कहा है कि कोरोना वायरस रोधी एस्ट्राजेनेका टीके के व्यापक लाभ हैं, लेकिन रक्त में थक्के बनने के दुर्लभ मामलों के चलते 30 साल से कम उम्र के लोगों को दूसरे टीके की पेशकश की जाएगी। देश की ‘मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी’ (एमएचआरए) ने बुधवार को कहा कि जब तक वह एस्ट्राजेनेका टीके और रक्त के दुर्लभ थक्कों के बीच संबंध का अध्ययन कर रही है, तब तक संबंधित आयु समूह के लोगों को फाइजर और मॉडर्ना कंपनी के टीके लगाए जाने चाहिए।

इसे भी पढ़ें: भारत, अमेरिका स्वच्छ और हरित प्रौद्योगिकी के लिए एजेंडा पर तालमेल कर सकते हैं : पीएम नरेंद्र मोदी

एमएचआरए के प्रमुख, डॉक्टर जून रैने ने कहा कि जोखिम के मुकाबले अधिकतर लोगों में एस्ट्राजेनेका टीके के लाभ अधिक हैं। यूरोपीय संघ के औषधि नियामक द्वारा यह कहे जाने के तुरंत बाद इस फैसले की घोषणा की गई कि उसने एस्ट्राजेनेका के टीके और रक्त के दुर्लभ थक्कों के बीच ‘‘संभावित संपर्क’’ का पता लगा लिया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept