एक और चीनी खतरा: इंसान में बर्ड फ्लू का पहला मामला आया सामने, चार साल का बच्चा संक्रमित

एक और चीनी खतरा: इंसान में बर्ड फ्लू का पहला मामला आया सामने, चार साल का बच्चा संक्रमित
Google common license

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को कहा कि मध्य हेनान प्रांत में एक चार साल के बच्चे को अप्रैल की शुरुआत में बुखार सहित कई लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। विभिन्न परीक्षणों के बाद, उसके शरीर में एवियन फ्लू के H3N8 स्ट्रेन की उपस्थिति पाई गई।

कोरोना वायरस की चौथी लहर आने से पहले बुधवार को बर्ड फ्लू फैलने की खबर सामने आई है जिससे लोगों के बीच दहशत और बढ़ गई है। बता दें कि चार साल का बच्चा बर्ड फ्लू वायरस से संक्रमित हो गया है। बच्चा चीन का रहने वाला है। पहले से ही कोरोना के कहर से जूझ रहा चीन में एवियन फ्लू का H3N8 स्ट्रेन फैलने लगा है। हालांकि, विशेषज्ञों का दावा है कि इस वायरस के इंसानों में फैलने की संभावना कम है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस कोरोना पॉजिटिव, रिपोर्ट के बाद आईसोलेशन में गईं

एवियन फ्लू का पहला H3N8 स्ट्रेन 2002 में कई उत्तरी अमेरिकी पक्षियों में पाया गया था। इसके बाद यह वायरस घोड़ों और कुत्तों के शरीर में पाया गया। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने मंगलवार को कहा कि मध्य हेनान प्रांत में एक चार साल के बच्चे को अप्रैल की शुरुआत में बुखार सहित कई लक्षणों के साथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। विभिन्न परीक्षणों के बाद, उसके शरीर में एवियन फ्लू के H3N8 स्ट्रेन की उपस्थिति पाई गई। इसका मतलब है कि वह बर्ड फ्लू से संक्रमित है।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान सरकार से अमेरिकी शख्सियतों की अपील, भारत के साथ संबंधों में सुधार करें

संक्रमित बच्चे के परिवार ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग को सूचित किया है कि वे घर पर मुर्गियां रखते हैं। इसके अलावा, जिस क्षेत्र में वे रहते हैं, वहां बड़ी संख्या में जंगली बतख हैं। बच्चा सीधे पक्षियों से संक्रमित हुआ है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार, बच्चे के अलावा परिवार के किसी भी सदस्यों में यह वायरस नहीं पाया गया है। आयोग ने दावा किया है कि, अभी भी आम जनता में इस वायरस के फैलने की कोई संभावना नहीं है।हालांकि, सावधानी बरतने की जरूरत है। इसलिए विशेषज्ञ मृत पक्षियों और मुर्गियों से दूर रहने की लोगों को सलाह दे रहे हैं।