सिंगापुर में कोविड-19 का टीका लेने वालों के स्वास्थ्य पर नजर रखी जा रही

covid-19 vaccine
सिंगापुर में कोविड-19 से बचाव के लिए फाइज़र टीके की पहली खुराक लेने वाले एक बुजुर्ग की मौत की घटना के बाद देश में टीका लेने वाले लाभार्थियों के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखी जाएगी, उनके आंकड़े एकत्र किए जाएंगे और उसके आधार पर टीकाकरण कार्यक्रम के लिए मानकों में सुधार किया जाएगा।

सिंगापुर। सिंगापुर में कोविड-19 से बचाव के लिए फाइज़र टीके की पहली खुराक लेने वाले एक बुजुर्ग की मौत की घटना के बाद देश में टीका लेने वाले लाभार्थियों के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखी जाएगी, उनके आंकड़े एकत्र किए जाएंगे और उसके आधार पर टीकाकरण कार्यक्रम के लिए मानकों में सुधार किया जाएगा। ‘‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’’की खबर में शनिवार को यह जानकारी दी गई।

इसे भी पढ़ें: देश के स्वास्थ्य क्षेत्र को मिलेगा और बढ़ावा, CSIR और गेट्स फाउंडेशन ने किया समझौता

सिंगापुर के स्वास्थ्य मंत्री जेन किम योंग ने शनिवार को कहा ‘‘मैं देश वासियों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि न केवल स्थानीय स्तर पर हम आंकड़ों पर नजर रखेंगे बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी हम यह देखेंगे ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यह सतत प्रक्रिया और अधिक बेहतर तथा सुरक्षित हो सके।’’ गौरतलब है कि 72 वर्षीय एक बुजुर्ग को तानतोक सेंग अस्पताल में टीके की पहली खुराक देने के बाद गहन देखभाल इकाई (आईसीयू) में भर्ती किया गया था।

इसे भी पढ़ें: देश की सबसे पुरानी विज्ञान अकादमियों ने वेबिनार से जुड़े दिशानिर्देशों पर जताई आपत्ति, शिक्षा मंत्री को लिखा पत्र

उन्हें कैंसर, उच्च रक्तचाप तथा अन्य बीमारियां भी थीं। जेन के अनुसार, अस्पताल ने शुरुआती रिपोर्ट में कहा कि ऐसा कोई संकेत नहीं है कि मरीज को टीके की वजह से दिल का दौरा पड़ा। उन्होंने बताया, ‘‘टीकाकरण से पहले व्यक्ति से उसके स्वास्थ्य के बारे में लंबी पूछताछ की जाती है। यह ऐहतियात बरतने के लिए होता है। टीकाकरण के बाद 30 मिनट तक व्यक्ति को चिकित्सकीय निगरानी में रखा जाता है। उनसे फिर पूछताछ कर पता लगाने का प्रयास किया जाता है कि सब कुछ ठीक है या नहीं। साथ ही लाभार्थी को यह भी बताया जाता है कि अगर प्रतिकूल प्रभाव हो तो वह क्या करे।’’ उन्होंने बताया कि टीका लेने वाले लाभार्थियों के स्वास्थ्य पर लगातार नजर रखी जाएगी, उनके आंकड़े एकत्र किए जाएंगे और उसके आधार पर टीकाकरण कार्यक्रम के लिए मानकों में सुधार किया जाएगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़