बालाकोट एयर स्ट्राइक में नहीं हुआ पाकिस्तान को कोई भी नुकसान: पाक सेना

india-lying-repeatedly-we-suffered-no-damage-in-balakot-airstrike-says-pakistan-army
पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने आरोप लगाया कि भारत लगातार झूठ बोल रहा है और पाकिस्तान उन झूठ पर प्रतिक्रिया नहीं देता।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की सेना ने सोमवार को एक बार फिर दावा किया कि भारत द्वारा किए गए बालाकोट एयर स्ट्राइक में कोई क्षति नहीं हुई और जोर देकर कहा कि अगर भारतीय पत्रकार सच देखना चाहते हैं तो उन्हें वहां ले जाया जाएगा। रावलपिंडी में मुख्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पाकिस्तान सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने आरोप लगाया कि भारत लगातार झूठ बोल रहा है और पाकिस्तान उन झूठ पर प्रतिक्रिया नहीं देता। उन्होंने कहा कि पिछले दो महीने से भारत झूठ बोलते जा रहा है। जिम्मेदार मुल्क होने के नाते हमने उनकी झूठ पर प्रतिक्रिया नहीं दी।

इसे भी पढ़ें: पुलवामा के 40 शहीदों का बदला 42 आतंकी ठिकानों को तबाह करके लिया- मोदी

‘जिओ न्यूज’ ने गफूर के हवाले से कहा है कि सच यह है कि पुलवामा में एक घटना हुई थी। पुलवामा में पुलिस पर हमले पहले भी हुए हैं। बालाकोट में हमारे यहां कोई क्षति नहीं हुई। हम स्थानीय और विदेशी मीडिया को वहां (सच) दिखाने ले गए। अगर भारतीय मीडिया सच देखने बालाकोट जाना चाहता है तो हम उन्हें भी ले जाएंगे। गफूर ने कहा कि पाकिस्तान ‘‘भारतीय विमानों को गिराने वाले अपने पायलटों को सम्मानित करने के लिए उपयुक्त समय का इंतजार कर रहा है। उन्होंने कहा कि भारत ने नहीं बताया कि पाकिस्तान के जवाबी हमले में क्या हुआ।

सेना के प्रवक्ता ने चेताया कि भारत, पाकिस्तान के संकल्प का इम्तिहान नहीं ले। उन्होंने कहा कि भारत पाकिस्तान के संकल्प की परीक्षा नहीं ले। यह 1971 नहीं है। 27 फरवरी को हवा में आमना-सामना के बाद भारत ने कहा था कि उसके एक मिग-21 लड़ाकू विमान ने गिरने से पहले पाकिस्तानी एफ-16 को गिरा दिया था। हालांकि, पाकिस्तान ने भारतीय वायु सेना के दावे को खारिज करते हुए कहा कि उसे किसी भी विमान का नुकसान नहीं हुआ। पाकिस्तान ने हवा में आमना-सामना के दौरान भारतीय वायु सेना के एक और विमान को गिराने का दावा किया था लेकिन भारत ने इसे खारिज कर दिया था।

इसे भी पढ़ें: राजनाथ ने बालाकोट हवाई हमला और ‘चौकीदार’ वाले बयान को लेकर कांग्रेस की निंदा की

गफूर ने कहा कि हमने दो भारतीय विमानों को गिरा दिया, पूरी दुनिया ने उसका मलबा देखा और आप (भारत) अब भी दावा करते हैं कि दो विमानों में एक हमारा था और हमारे ही एक पायलट की मौत हो गयी। इसलिए कि हमने शुरू में कहा था कि दो भारतीय पायलट कब्जे में हैं और फिर कहा कि केवल एक ही है। आप (भारत) कहते हैं कि हमने अपना बयान इसलिए बदला क्योंकि एक पायलट हमारा ही था। उन्होंने कहा कि हमें उचित चैनल के जरिए सूचना मिली, फिर जमीनी सूचना मिली। निजी तौर मैंने भी पाया कि केवल एक व्यक्ति कब्जे में है और मैंने खुद संशोधन किया। यह कैसे हो सकता है कि आप हमारे एक कथन को स्वीकार करने के लिए तैयार हैं, दूसरे को नहीं।

उन्होंने कहा कि हमने जवाबी कार्रवाई नहीं की क्योंकि हम शांति चाहते हैं...हमने आपको (भारत) अमेरिका को हमारे एफ-16 की ताकत बताने को कहा। आज के समय में विमान को गिराए जाने को छुपाना नामुमकिन है। आज के समय एक मोटरसाइकिल भी दुर्घटनाग्रस्त होती है तो पूरी दुनिया को पता चल जाता है। गफूर ने भारत पर पाकिस्तान को अस्थिर करने के लिए कबायली क्षेत्र में स्थित संगठन पश्तून तहफूज मूवमेंट (पीटीएम) को वित्तीय मदद देने का भी आरोप लगाया। 

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़