यूएई में भारतीय दंपति की मौत, कोरोना वायरस से नहीं थे संक्रमित

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 27, 2020   18:15
यूएई में भारतीय दंपति की मौत, कोरोना वायरस से नहीं थे संक्रमित

यूएई में भारतीय दंपति की मौत हो गई है।दंपति की बेटी हाइफा ने बताया,‘‘हमने पूरी कोशिश की कि उन्हें एक ही स्थान पर दफनाया जाए लेकिन संक्रमण के कारण कहीं आने-जाने पर लगी पाबंदियों के कारण हम ऐसा नहीं कर पाए।’’ खबर में बताया गया कि सोफिया को अल कॉज में दफनाया गया, वहीं हबीब को शारजाह में।

दुबई। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई)में रह रहे एक भारतीय दंपति की पांच दिन के अंतराल में मौत हो गई। दोनों में से कोई भी कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं था। गल्फ न्यूज ने रविवार को अपनी एक खबर में कहा कि केरल से ताल्लुक रखने वाली सोफिया हबीब (57) का यहां एक अस्पताल में एक सप्ताह इलाज चलने के बाद 18 अप्रैल को निधन हो गया। उनके परिवार ने बताया कि सोफिया की मौत के पांच दिन बाद 23 अप्रैल को उनके शोकाकुल पति ए आर हबीब रहमान (66)का शारजाह के एक अस्पताल में निधन हो गया। उन्होंने बताया कि दोनों में से किसी को भी कोरोना वायरस संक्रमण नहीं था। उनके तीन बच्चे हैं और तीनो यहीं नौकरी करते हैं। बच्चों ने अपने माता-पिता को यूएई में ही दफनाने का निर्णय किया।

इसे भी पढ़ें: चीन ने कोरोना वायरस के प्रति कार्रवाई को लेकर अमेरिका पर साधा निशाना

दंपति की बेटी हाइफा ने बताया,‘‘हमने पूरी कोशिश की कि उन्हें एक ही स्थान पर दफनाया जाए लेकिन संक्रमण के कारण कहीं आने-जाने पर लगी पाबंदियों के कारण हम ऐसा नहीं कर पाए।’’ खबर में बताया गया कि सोफिया को अल कॉज में दफनाया गया, वहीं हबीब को शारजाह में। हाइफा ने बताया कि उनके माता-पिता एक दूसरे के काफी करीब थे। उन्होंने कहा,‘‘हमें मालूम था कि वे एक-दूसरे के बिना नहीं रह पाएंगे। मां की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई और उनके सदमे में पापा की भी मौत हो गईं।’’ हाइफा ने बताया कि उनकी मां की कोरोना वायरस की तीनों रिपोर्ट ठीक आईं थीं। खबर के अनुसार हबीब 43 वर्ष पहले यूएई आए थे और शारजाह में एक निजी कंपनी में काम करते थे। उनका विवाह 1985 में सोफिया के साथ हुआ था और उसके बाद वह भी यूएई आ गई थीं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...