यूरेनियम संवर्धन की सीमा का उल्लंघन करेगा ईरान, अमेरिका ने दी चेतावनी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 8 2019 3:03PM
यूरेनियम संवर्धन की सीमा का उल्लंघन करेगा ईरान, अमेरिका ने दी चेतावनी
Image Source: Google

ईरान ने रविवार को कहा कि वह पश्चिमी देशों के साथ हुए परमाणु समझौते में तय की गई यूरेनियम संवर्धन की सीमा का उल्लंघन करने वाला है। वहीं अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा है कि समझौते में तय की गई सीमा को पार करके ईरान आग से खेल रहा है।

तेहरान। ईरान ने रविवार को कहा कि वह पश्चिमी देशों के साथ हुए परमाणु समझौते में तय की गई यूरेनियम संवर्धन की सीमा का उल्लंघन करने वाला है। वहीं अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा है कि समझौते में तय की गई सीमा को पार करके ईरान आग से खेल रहा है। अंतराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने इस मुद्दे पर 10 जुलाई को एक विशेष बैठक बुलाई है। ईरान ने धमकी दी है कि अगर 2015 में हुए परमाणु समझौते पर संबंधित पक्षों के साथ कोई हल नहीं निकलता तो वह समझौते की और भी शर्तों का उल्लंघन कर सकता है। 



ब्रिटेन का कहना है कि ईरान ने समझौते की शर्तों का उल्लंघन किया है। साथ ही लंदन और बर्लिन ने ईरान से यूरेनियम संवर्धन की तय सीमा को तोड़ने से बचने को कहा है। ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा है कि तेहरान अपनी प्रतिबद्धताओं से पीछे हट सकता है लेकिन अगर यूरोपीय देश अपनी अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करें तो ऐसे कोई भी कदम वापस लिए जा सकते हैं। समझौते में तय अधिकतम परिष्कृत 3.67 प्रतिशत से अधिकयूरेनियम संवर्धन करने का कदम यूरोपीय संघ और अमेरिका के विरोध के बावजूद शुरू किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: ईरान परमाणु समझौता बचाने की कवायद में जुटे फ्रांस के राष्ट्रपति, 15 जुलाई को होगी वार्ता

ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रवक्ता बेहरोज कामलवंडी ने सरकारी टेलीविजन में कहा कि सीमा पार करने के ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के आदेश पर कुछ ही घंटे में अमल किया जाएगा। गौरतलब है कि 2015 में हुए परमाणु समझौते से अमेरिका के बाहर निकलने के ठीक एक साल बाद आठ मई को रूहानी ने तेहरान के इरादे स्पष्ट कर दिए थे। ईरान के राष्ट्रपति ने कहा कि यह कदम अमेरिका द्वारा दोबारा प्रतिबंध लगाए जाने के बाद ईरान को काम करते रहने देने में मदद करने की दिशा में शेष पक्षों के नाकाम रहने के बाद उठाया गया है। 

इसे भी पढ़ें: ईरान ने की मांग, जिब्राल्टर में पकड़े गए तेल टैंकर को छोड़े ब्रिटेन

ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला खमनेई के शीर्ष सहालकार ने शुक्रवार को संकेत दिया था कि इसे बढ़ा कर पांच प्रतिशत किया जा सकता है। ईरान का कहना है कि परमाणु समझौते से अमेरिका के बाहर होने के बाद उसने ‘सामरिक संयम’ बरता और इस बात का इंतजार किया कि शेष पक्ष तय किए गए आर्थिक लाभों की दिशा में काम करें। वहीं अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा है कि समझौते में तय की गई सीमा को पार करके वह आग से खेल रहा है। अंतराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने इस मुद्दे पर 10 जुलाई को एक विशेष बैठक बुलाई है।



रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story