कुत्ते के साथ खेलते वक्त चोटिल हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2020   16:26
  • Like
कुत्ते के साथ खेलते वक्त चोटिल हुए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडनअपने कुत्ते के साथ खेलते हुए चोटिल हो गए।बाइडन का उपचार कर रहे डॉ. केविन ओकोन्नोर ने रविवार को कहा, ‘‘शुरुआती एक्स-रे में किसी तरह का फ्रैक्चर पता नहीं चला। लेकिन क्लिनिकल जांच में गहराई से देखने की जरूरत लगी।

वाशिंगटन। अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के एक पैर में मामूली फ्रैक्चर हुआ है और उन्हें चलने के लिए अब कई हफ्तों तक ‘वॉकिंग बूट’ की जरूरत पड़ेगी। उनके चिकित्सक ने यह जानकारी दी। शनिवार को अपने पालतू कुत्ते ‘मेजर’ के साथ खेलते वक्त बाइडन का पैर फिसलने से उनका टखना मुड़ गया था। बाइडन ने गत 20 नवंबर को अपना 78वां जन्मदिन मनाया और वह अमेरिकी इतिहास के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति बनने जा रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: बाइडेन की टीम में शामिल हो सकती है एक और भारतीय, जानिए कौन है नीरा टंडन?

बाइडन का उपचार कर रहे डॉ. केविन ओकोन्नोर ने रविवार को कहा, ‘‘शुरुआती एक्स-रे में किसी तरह का फ्रैक्चर पता नहीं चला। लेकिन क्लिनिकल जांच में गहराई से देखने की जरूरत लगी।’’ जीडब्ल्यू मेडिकल फैकल्टी एसोसिएट्स में निदेशक ओकोन्नोर ने बाइडन की जांच के परिणामों को देखने के बाद बताया, ‘‘बाद के सीटी स्कैन से नव-निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन के पैर के बीच में मामूली फ्रैक्चर का पता चला। अगले कई हफ्तों तक उन्हें चलने के लिए वॉकिंग बूट की जरूरत पड़ सकती है।’’ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने रविवार शाम को ट्वीट कर बाइडन के जल्द स्वस्थ होने की कामना की। बाइडन का पिछला स्वास्थ्य रिकॉर्ड डॉ ओकोन्नोर ने दिसंबर 2019 में जारी किया था।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप प्रचार अभियान के पूर्व सहयोगी ने रूस जांच निगरानी मामले में वाद दायर किया

डॉक्टर ने कहा था कि बाइडन राष्ट्रपति बनने के लिहाज से स्वस्थ और तंदुरुस्त हैं। स्वास्थ्य रिपोर्ट के अनुसार बाइडन तंबाकू या शराब का सेवन नहीं करते और सप्ताह में पांच दिन व्यायाम करते हैं। वह एसिड रिफ्ल्क्स, कॉलेस्ट्रॉल और मौसमी एलर्जी जैसी समस्याओं के लिए ब्लड थिनर और अन्य दवाएं लेते हैं। बाइडन ने 2018 में मेजर को अपनाया था जो जर्मन शेफर्ड नस्ल का कुत्ता है। उनके पास चैंप नाम का एक और जर्मन शेफर्ड कुत्ता है जिसे उन्होंने 2008 में राष्ट्रपति चुनाव के बाद अपनाया था। बाइडन दंपती ने कहा है कि उनकी दोनों कुत्तों को व्हाइट हाउस ले जाने की योजना है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




डोनाल्ड ट्रंप का Facebook चालू होगा या नहीं? ओवरसाइट बोर्ड करेगा निर्णय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   14:45
  • Like
डोनाल्ड ट्रंप का Facebook चालू होगा या नहीं? ओवरसाइट बोर्ड करेगा निर्णय

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खाते के बारे में फेसबुक का ओवरसाइट बोर्ड निर्णय करेगा। बोर्ड ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसे इस संबंध में फेसबुक से अनुरोध प्राप्त हुआ है। फेसबुक ने यूजर के राजनेता होने की स्थिति में खाता निलंबित करने संबंधी नीतिगत सुझाव भी बोर्ड से मांगा है।

वाशिंगटन।अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खाते के बारे में फेसबुक का ओवरसाइट बोर्ड निर्णय करेगा। फेसबुक ने स्वतंत्र विशेषज्ञों से इस बात पर निर्णय लेने को कहा है कि ट्रंप के खाते पर लगी रोक को जारी रखा जाये या हटाया जाये। इस महीने की शुरुआत में (छह जनवरी को) कैपिटन भवन पर ट्रंप के समर्थकों के हंगामे के बाद फेसबुक और उसकी अनुषंगी इंस्टाग्राम ने पूर्व राष्ट्रपति के खाते को निलंबित कर दिया है। फेसबुक ने तीन साल पहले स्वतंत्र विशेषज्ञों वाले ओवरसाइट बोर्ड का गठन किया था।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने बाइडेन के लिए छोड़ा पत्र, क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को करेंगे फोन?

बोर्ड ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसे इस संबंध में फेसबुक से अनुरोध प्राप्त हुआ है। फेसबुक ने यूजर के राजनेता होने की स्थिति में खाता निलंबित करने संबंधी नीतिगत सुझाव भी बोर्ड से मांगा है। बोर्ड ने एक विज्ञप्ति में कहा, ‘‘इस मामले में बोर्ड का निर्णय फेसबुक के लिये बाध्यकारी होगा। बोर्ड का निर्णय तय करेगा कि क्या ट्रंप के खातों का निलंबन अनिश्चित समय के लिये जारी रहेगा।’’ ओवरसाइट बोर्ड ने कहा कि आने वाले दिनों में इस मामले को एक पांच सदस्यीय समीक्षा समिति के पास भेजा जायेगा। समिति के एक निर्णय के पहुंच जाने के बाद निष्कर्षों को पूरे बोर्ड के समक्ष रखा जायेगा। बोर्ड बहुमत से कोई फैसला लेगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




सीरम इंस्टीट्यूट के प्लांट में लगी भीषण आग पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो ने जताया दुख

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   14:32
  • Like
सीरम इंस्टीट्यूट के प्लांट में लगी भीषण आग पर संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो ने जताया दुख

सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की घटना पर गुतारेस ने दुख जताया है। महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बृहस्पतिवार को दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम घटना में लोगों की मौत से दुखी है एवं प्रभावित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। हमें उम्मीद है कि आग लगने के मामले की पूरी जांच होगी।’’

संयुक्त राष्ट्र। संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंतोनियो गुतारेस ने पुणे में सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में आग लगने की घटना और उसमें लोगों की जान जाने पर अफसोस जाहिर किया और उम्मीद जताई कि घटना की पूरी जांच की जाएगी। उनके प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बृहस्पतिवार को दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘हम घटना में लोगों की मौत से दुखी है एवं प्रभावित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। हमें उम्मीद है कि आग लगने के मामले की पूरी जांच होगी।’’

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने बाइडेन के लिए छोड़ा पत्र, क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को करेंगे फोन?

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला ने कहा कि आग की घटना से कोविशील्ड टीकों का उत्पादन प्रभावित नहीं होगा। उल्लेखनीय है कि पुलिस के अनुसार पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के मंजरी परिसर की एक इमारत में बृहस्पतिवार को आग लगने से पांच लोगों की मौत हो गई। कोविड-19 पर नियंत्रण पाने के लिए ‘कोविशील्ड’ टीके का उत्पादन सीरम संस्थान के मंजरी केन्द्र में ही किया जा रहा है। जिस भवन में आग लगी वह सीरम इंस्टीट्यूट की निर्माणाधीन साइट का हिस्सा है और कोविशील्ड निर्माण इकाई से एक किमी दूर है, इसलिए आग लगने से कोविशील्ड के निर्माण पर कोई असर नहीं पड़ा है। महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने कहा कि राज्य सरकार ने आग लगने की घटना की जांच के आदेश दिए हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




व्हाइट हाउस का बयान- कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति बनने से भारत-अमेरिका रिश्ते और मजबूत होंगे

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   14:26
  • Like
व्हाइट हाउस का बयान- कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति बनने से भारत-अमेरिका रिश्ते और मजबूत होंगे

व्हाइट हाउस ने कहा कि कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति बनने से भारत-अमेरिका रिश्ते और मजबूत होंगे।व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बृहस्पतिवार को दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडन दोनों देशों के बीच लंबे समय से चले आ रहे द्विदलीय सफल संबंधों का सम्मान करते हैं।

वाशिंगटन। व्हाइट हाउस की एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि कमला हैरिस के अमेरिकी उपराष्ट्रपति बनने से भारत और अमेरिका के बीच संबंध और भी मजबूत होंगे। कमला हैरिस (56) के पिता जमैका के हैं और उनकी मां भारतीय हैं। उन्होंने बुधवार को पहली महिला, पहली अश्वेत और पहली एशियाई मूल की अमेरिकी उपराष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेकर इतिहास रच दिया। कैलिफोर्निया से पूर्व सीनेटर ने अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के तौर पर जो बाइडन के शपथ ग्रहण से पहले शपथ ली थी। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव जेन साकी ने बृहस्पतिवार को दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राष्ट्रपति जो बाइडन दोनों देशों के बीच लंबे समय से चले आ रहे द्विदलीय सफल संबंधों का सम्मान करते हैं।

इसे भी पढ़ें: ट्रंप ने बाइडेन के लिए छोड़ा पत्र, क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को करेंगे फोन?

बाइडन प्रशासन के तहत भारत-अमेरिका संबंध पर एक सवाल के जवाब में साकी ने कहा, ‘‘राष्ट्रपति बाइडन कई बार भारत की यात्रा कर चुके हैं। वह भारत और अमेरिका के नेताओं के बीच लंबे समय से चले आ रहे सफल द्विदलीय संबंध का सम्मान करते हैं, उसका महत्व समझते हैं। बाइडन प्रशासन इसे आगे बढ़ाने की दिशा में आशान्वित है।’’ उन्होंने कहा कि भारतीय मूल की कमला हैरिस के उपराष्ट्रपति बनने से यह संबंध और मजबूत होगा। साकी ने कहा, ‘‘बाइडन ने उनका (हैरिस का) चुनाव किया है और वह भारतीय मूल की पहली अमेरिकी हैं जो अमेरिका की उपराष्ट्रपति बनी हैं। निश्चित रूप से यह इस देश में हम सभी के लिए न सिर्फ एक ऐतिहासिक लम्हा है बल्कि इससे हमारे रिश्ते भी और प्रगाढ़ होंगे।’’ हैरिस ने बुधवार को इस उपलब्धि के लिए अपनी मां को श्रेय दिया और कहा कि उनकी मां ने उनमें हमेशा भरोसा जताया और दोनों बेटियों को हमेशा यही सीख दी कि ‘‘हम पहले ‘शख्स’ हो सकते हैं, लेकिन हमें आखिरी नहीं होना चाहिए।’’

इसे भी पढ़ें: जो बाइडन, कमला हैरिस ने अमेरिका के राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली

हैरिस ने अपनी दिवंगत मां श्यामला गोपालन को याद करते हुए कहा कि उन्हें अपनी मां से हमेशा यही सीख मिली और यही वजह रही कि वह अपने पूरे कॅरियर में उन्होंने सान फ्रांसिस्को की पहली महिला डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी जनरल, कैलिफोर्निया की पहली महिला अटॉर्नी जनरल और सीनेट में कैलिफोर्निया का प्रतिनिधित्व करने वाली पहली अश्वेत महिला के तौर पर सेवा दी। हैरिस की मां श्यामला गोपालन एक कैंसर अनुसंधानकर्ता और नागरिक अधिकार कार्यकर्ता थीं। उन्होंने कहा, ‘‘मेरी कहानी हर अमेरिकी की कहानी है। मेरी मां श्यामला गोपालन भारत से आयी थीं। उन्होंने मेरी और मेरी बहन माया की परवरिश की। उन्होंने हमें यही सीख दी कि हम पहले ‘शख्स’ हो सकते हैं, लेकिन हमें आखिरी नहीं होना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मुझमें आपने हमेशा जो भरोसा दिखाया, उसी की वजह से आज इस क्षण मैं यहां हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।




This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept