म्यांमार में मुकदमे का सामना करने के लिए बुधवार को पेश होंगे पत्रकार

Myanmar
म्यांमार में तख्तापलट के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों को कवर करने की वजह से जन व्यवस्था कानून के तहत अरोपी बनाए गए, एसोसिएटेड प्रेस के पत्रकार थिन जॉ एवं अन्य मीडिया कर्मी सुनवाई के लिए बुधवार को अदालत में पेश होंगे।

यांगून। म्यांमार में तख्तापलट के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों को कवर करने की वजह से जन व्यवस्था कानून के तहत अरोपी बनाए गए, एसोसिएटेड प्रेस के पत्रकार थिन जॉ एवं अन्य मीडिया कर्मी सुनवाई के लिए बुधवार को अदालत में पेश होंगे। जॉ को 27 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था और यह उनके खिलाफ सुनवाई का दूसरा चरण होगा।

इसे भी पढ़ें: भारत में कोरोना वायरस का कहर जारी, एक दिन में रिकॉर्ड 47,262 नए मामले

अगर वह दोषी साबित होते हैं तो उन्हें तीन साल कैद की सजा हो सकती है। जॉ की वकील तिन जार ऊ ने बताया कि 12 मार्च को हुई पहली सुनवाई के बाद वह संभवत: बुधवार को जमानत के लिए याचिका दायर करेंगी। ‘‘म्यांमा एसिस्टेंट एसोसिएशन फॉर पॉलिटिकल प्रिजनर्स’’ (एमएएपीपी) के मुताबिक, तख्तापलट के बाद से अब तक करीब 40 पत्रकारों को हिरासत में लिया गया है जिनमें से करीब आधे अब भी कैद में हैं। कैद पत्रकारों में थिन जॉ भी शामिल है जिन्हें 27 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़