कराची में आत्मघाती हमला करने वाली महिला एक शिक्षाविद थी: रिपोर्ट

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 28, 2022   08:53
कराची में आत्मघाती हमला करने वाली महिला एक शिक्षाविद थी: रिपोर्ट
Google Creative Commons.

रिपोर्ट के मुताबिक, जब शारी उर्फ बरम्श ने विस्फोट से करीब 10 घंटे पहले अपने ट्विटर हैंडल पर अलविदा का संदेश साझा किया तो किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि उसका अगला कदम क्या होगा।

इस्लामाबाद| पाकिस्तान के कराचीविश्वविद्यालय में आत्मघाती हमला करने वाली महिला एक शिक्षाविद थी और उसके दो बच्चे हैं। बुधवार को सामने आयी जानकारी के मुताबिक, आत्मघाती हमलावर का पति दंत चिकित्सक है और वह अशांत बलूचिस्तान के एक संपन्न परिवार से संबंध रखती थी।

पाकिस्तान की आर्थिक राजधानी स्थित कराची विश्वविद्यालय में मंगलवार को बुर्का पहने एक आत्मघाती महिला हमलावर ने एक कार को विस्फोट कर उड़ा दिया जिसमें तीन चीनी नागरिकों और एक अन्य की मौत हो गई। विश्वविद्यालय में कन्फ्यूशियस इंस्टिट्यूट के पास हुए इस हमले की जिम्मेदारी बलूच लिबरेशन आर्मी ने ली है। इस संस्थान में चीनी की शिक्षा दी जाती है।

एक्सप्रेस ट्रिब्यून अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक, सबसे चौंकाने वाला तथ्य यह है कि आत्मघाती हमलावर एक शिक्षाविद थी और उसका ताल्लुक एक संपन्न परिवार से था।

रिपोर्ट के मुताबिक, जब शारी उर्फ बरम्श ने विस्फोट से करीब 10 घंटे पहले अपने ट्विटर हैंडल पर अलविदा का संदेश साझा किया तो किसी ने सोचा भी नहीं होगा कि उसका अगला कदम क्या होगा।

इसके मुताबिक, शारी बलूचिस्तान स्थित अपने पैतृक जिले केच के एक प्राथमिक विद्यालय में शिक्षिका थी। उसने 2014 में बीएड किया और 2018 में एमएड किया।

शारी ने बलूचिस्तान विश्वविद्यालय से जीवविज्ञान में स्नातकोत्तर किया और उसने अल्लामा इकबाल मुक्त विश्वविद्यालय से एमफिल भी किया था। रिपोर्ट के मुताबिक, शारी के एक बेटा और एक बेटी है, जिनकी उम्र करीब पांच साल है। उसका पति एक दंत चिकित्सक है जबकि उसके पिता एक सरकारी एजेंसी में निदेशक के पद पर रहे थे।

महिला के परिवार के अन्य सदस्य भी उच्च शिक्षा प्राप्त हैं। इस बात का खुलासा नहीं हो सका है कि किस वजह से महिला बलोच सशस्त्र संघर्ष का हिस्सा बनी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...