मैक्रों ने ‘येलो वेस्ट’ प्रदर्शनकारियों की यहूदी विरोधी टिप्पणियों की निंदा की

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Feb 17 2019 1:18PM
मैक्रों ने ‘येलो वेस्ट’ प्रदर्शनकारियों की यहूदी विरोधी टिप्पणियों की निंदा की
Image Source: Google

‘‘उन पर जो यहूदी विरोधी अपमानजनक टिप्पणियां की गई वह उस बात को बिल्कुल खारिज करती है कि हम क्या हैं और किसलिए एक महान राष्ट्र हैं। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’’

पेरिस। फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने ‘‘येलो वेस्ट’’ प्रदर्शनकारियों द्वारा एक प्रमुख बुद्धिजीवी के खिलाफ यहूदी विरोधी टिप्पणी की निंदा की और कहा कि इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सोशल मीडिया पर पोस्ट वीडियो के अनुसार, मध्य पेरिस में शनिवार को प्रदर्शनकारियों के एक समूह ने दार्शनिक और लेखक एलेन फिनकिल्क्रॉत को निशाना बनाया जिसके बाद पुलिस ने हस्तक्षेप किया। मैक्रों ने ट्वीट कर कहा, ‘‘उन पर जो यहूदी विरोधी अपमानजनक टिप्पणियां की गई वह उस बात को बिल्कुल खारिज करती है कि हम क्या हैं और किसलिए एक महान राष्ट्र हैं। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।’’

दरअसल, फ्रांस में येलो वेस्ट प्रदर्शन 14वें सप्ताह भी जारी है और शनिवार को पुलिस ने राजधानी पेरिस के समीप मौजूद हजारों प्रदर्शनकारियों को तितर बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और पानी की बौछारें की। कुछ प्रदर्शनकारियों ने यहूदी विरोधी टिप्पणियां भी की जिससे माहौल तनावपूर्ण हो गया। उन्होंने ‘‘यहूदी’’, ‘‘तेल अवीव वापस जाओ’’ और ‘‘हम फ्रांस हैं’’ जैसे नारे लगाए। देश के अन्य शहरों में भी प्रदर्शन के कारण तनाव बना हुआ है। 

इसे भी पढ़े: निरस्त्रीकरण के प्रयासों में चीन के साथ ही अमेरिका, रूस भी हों शामिल: मर्केल

समाचार चैनल बीएफएमटीवी ने बताया कि रावेन,नोर्मेंडी में प्रदर्शनकारियों ने एक कार को घेर लिया। इसके बाद कार ने आगे बढ़ने की कोशिश की जिसमें चार लोगों को मामूली चोटें आई। पुलिस ने येलो वेस्ट आंदोलन के गढ़ बोरडेक्स और अन्य शहरों में प्रदर्शन के 14वें सप्ताहांत में आंसू गैस के गोले और पानी की बौछारों का इस्तेमाल किया। फ्रांस में तीन महीने से प्रदर्शन चल रहे हैं। रविवार को पहली बार राष्ट्रव्यापी प्रदर्शनों का आह्वान किया गया है। पेट्रोलियम पदार्थों पर करों के विरोध में शुरू हुआ यह प्रदर्शन राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों और उनकी व्यापार समर्थक नीतियों के खिलाफ जन आंदोलन में बदल गया। ज्यादातर प्रदर्शनों में हिंसा भी देखने को मिली। फ्रांसीसी मीडिया ने गृह मंत्रालय के हवाले से बताया कि शनिवार को देशभर में करीब 41,500 प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरे।

 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story

Related Video