दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की एक चौथाई संख्या अमेरिका में

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2020   09:59
दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों की एक चौथाई संख्या अमेरिका में

कोरोना वायरस से न्यूयॉर्क में एक हफ्ते पहले के मुकाबले अब नए मामले मामलों में 50 प्रतिशत की गिरावट आई है और समान अवधि में मरने वाले लोगों की संख्या 40 प्रतिशत तक कम हो गई है।

 वाशिंगटन। दुनियाभर में कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों में से एक चौथाई लोगों की मौत अमेरिका में हुई है और संक्रमण के एक तिहाई से अधिक मामले अमेरिका में सामने आए हैं। शुक्रवार को आए ताजा आंकड़ों से यह जानकारी मिली। नवंबर में चीन के वुहान शहर से शुरू हुई कोरोना वायरस वैश्विक महामारी से अभी तक दुनियाभर में 1,95,000 लोगों की मौत हो चुकी है और 27 लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं। ‘जॉन्स हॉप्किन्स विश्वविद्यालय’ के अनुसार अमेरिका इस संक्रामक रोग से सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। देश में 9.2 लाख लोग संक्रमित पाए गए हैं और शुक्रवार तक मरने वाले लोगों की संख्या 51,000 पर पहुंच गई। अमेरिका में कोविड-19 के मामले छह देशों स्पेन (2,19,764), इटली (1,92,994), फ्रांस (1,59,495), जर्मनी (1,54,545), ब्रिटेन (1,44,635) और तुर्की (1,04,912) के कुल मामलों से भी अधिक है।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में 24 घंटे में कोरोना वायरस से गई 3,176 लोगों की जान, मृतकों की संख्या 50,000 पार

अमेरिका के न्यूयॉर्क में इस वायरस से सबसे अधिक 17,671 लोगों की मौत हुई और 2,71,890 लोग संक्रमित पाए गए। हालांकि अब ऐसा लग रहा है कि अमेरिका में संक्रमण का बुरा दौर बीत चुका है। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस पर अपने नियमित व्हाइट हाउस संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘देशभर में संक्रमित पाए जाने वाले लोगों की संख्या कम हो गई है।’’ उन्होंने बताया कि पिछले हफ्ते न्यूयॉर्क में 38 प्रतिशत जांच रिपोर्ट में संक्रमण के मामले सामने आए थे, इस हफ्ते यह संख्या गिरकर 28 प्रतिशत रह गई। न्यूयॉर्क में एक हफ्ते पहले के मुकाबले अब नए मामले मामलों में 50 प्रतिशत की गिरावट आई है और समान अवधि में मरने वाले लोगों की संख्या 40 प्रतिशत तक कम हो गई है।

इसे भी पढ़ें: श्रीलंका का नौसैन्य अड्डा बना संक्रमण का नया केंद्र, देश में अब तक 400 से ज्यादा मामले आए सामने

ट्रंप ने कहा कि नए मामलों की संख्या में गिरावट के परिणामस्वरूप आधे राज्यों ने अपनी अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। इससे एक दिन पहले कैलिफोर्निया, मिनेसोटा और टेनेसी ने कुछ क्षेत्रों में काम फिर शुरू करने की अतिरिक्त योजनाओं की घोषणा की। उन्होंने कहा, ‘‘हम हर अमेरिकी से सतर्कता बरतने और साफ-सफाई रखने, सामाजिक दूरी बनाने और चेहरे को ढककर रखने के लिए कहते हैं। हम अपने देश को फिर से खोल रहे हैं। यह देखना काफी उत्साहजनक होगा।’’ इस बीच, पहली बार ट्रंप ने कोरोना वायरस कार्यबल के संवाददाता सम्मेलन को पत्रकारों के सवालों का जवाब दिए बगैर खत्म कर दिया। व्हाइट हाउस के चार अधिकारियों और व्हाइट हाउस के करीबी रिपब्लिकनों ने गोपनीयता की शर्त पर बताया कि व्हाइट हाउस में संवाददाता सम्मेलनों का तरीका बदलने को लेकर चर्चा हुई जिसमें राष्ट्रपति की भूमिका को कम करने की बात उठी।

इसे भी पढ़ें: विश्वभर में कोरोना वायरस से जान गंवाने वालों की संख्या 1,90,000 के पार

यह संवाददाता सम्मेलन आमतौर पर एक घंटे से अधिक समय तक चलता था और ट्रंप पत्रकारों के सवालों का जवाब देते थे। ट्रंप उन खबरों को लेकर गुस्सा थे जो एक दिन पहले के संवाददाता सम्मेलन में की गई उनकी इस टिप्पणी के बारे में थीं कि कोरोना वायरस से लड़ने के लिए लोगों को कीटाणुनाशक इंजेक्शन लगाना मददगार होगा। इस सुझाव पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह खतरनाक है और डेमोक्रेट्स ने भी इसकी तीखी आलोचना की।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...