• प्रधानमंत्री इमरान खान के सहायक को कादियानी कहना विधायक को पड़ा भारी, हुआ गिरफ्तार

लाहौर पुलिस ने उत्तरदायित्व और आंतरिक मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक मिर्जा शहजाद अकबर की शिकायत पर ‘पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ’ (पीटीआई) के विधायक नजीर चौहान को गिरफ्तार कर लिया। चौहान पार्टी के अलग हो चुके समूह जहांगीर तरीन से जुड़े हैं और पंजाब प्रांत के विधायक हैं।

लाहौर। पाकिस्तान के सत्ताधारी दल के एक विधायक को प्रधानमंत्री इमरान खान के विशेष सहायक को कथित तौर पर ‘कादियानी’ (अहमदिया अल्पसंख्यक समुदाय का सदस्य) कहने के लिए मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया। पाकिस्तान में अहमदी अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों को कादियानी कहा जाता है। पाकिस्तान की संसद ने अहमदी समुदाय को 1974 में ‘गैर मुस्लिम’ करार दिया था। एक दशक बाद उन्हें खुद को मुसलमान कहने पर पाबंदी लगा दी गई थी। इस समुदाय के लोगों को प्रवचन देने और हज पर सऊदी अरब जाने की भी मनाही है। लाहौर पुलिस ने उत्तरदायित्व और आंतरिक मामलों पर प्रधानमंत्री के विशेष सहायक मिर्जा शहजाद अकबर की शिकायत पर ‘पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ’ (पीटीआई) के विधायक नजीर चौहान को गिरफ्तार कर लिया। चौहान पार्टी के अलग हो चुके समूह जहांगीर तरीन से जुड़े हैं और पंजाब प्रांत के विधायक हैं।

इसे भी पढ़ें: अमेरिकी हिंदू संस्था ने पाकिस्तान, तुर्की व रूस के संयुक्त रूप से ड्रेन उत्पादन का विरोध किया

पंजाब पुलिस के प्रवक्ता राणा आरिफ ने पीटीआई-से कहा, “पुलिस ने शहजाद अकबर की शिकायत पर विधायक नजीर चौहान के खिलाफ लाहौर के रेसकोर्स पुलिस थाने में दर्ज प्राथमिकी के संबंध में चौहान को गिरफ्तार कर लिया।” प्रवक्ता ने कहा कि कथित तौर पर एक वीडियो में चौहान अकबर पर टिप्पणी करते दिखाई दे रहे हैं जिसकी आवाज की जांच के लिए उन्हें संघीय जांच एजेंसी की साइबर अपराध शाखा में रखा गया है। मई में चौहान ने एक टीवी टॉक शो में दावा किया था कि अकबर एक कादियानी हैं और उन्हें चुनौती दी थी कि वह कसम खाकर कहें कि वह मुस्लिम हैं, अहमदिया नहीं। इसके जवाब में अकबर ने लाहौर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जिसके आधार पर चौहान के विरुद्ध एक प्राथमिकी दर्ज की गई।