चीन से खरीदे पाकिस्तान के युद्ध टैंक, और तोप खिलौना साबित हुए , नहीं कर पा रहे फायर

चीन से खरीदे पाकिस्तान के युद्ध टैंक, और तोप खिलौना साबित हुए , नहीं कर पा रहे फायर

पाकिस्तानी सेना की योजना थी कि यदि आर्टलरी गन्स की परफॉर्मेंस अच्छी होती है तो फिर चीन को बड़ा ऑर्डर दिया जाएगा, लेकिन चीन से मिले इस झटके ने पाकिस्तान को मायूस कर दिया है। चीन बीते कुछ सालों में पाकिस्तान को हथियार सप्लाई करने वाले देशों में सबसे आगें हो गया है।

हथियारों को लेकर पाकिस्तान चीन पर पूरी तरह निर्भर है और अब यही निर्भरता पाकिस्तान के लिए मुसीबत बन गई है। दरअसल हाल ही में चीन से खरीदे गए युद्धक टैंक और आर्टिलरी गन बेकार साबित हुई हैं। टैंक और बंदूकें टेस्टिंग में फैल रहे हैं और फायर तक नहीं कर पाए। पाकिस्तान पहले लंबे समय तक हथियारों के लिए पश्चिमी देशों पर निर्भर था। बीते कुछ सालों से हथियारों की खरीद के लिए चीन का रुख किया है, जिसमें उसे काफी नुकसान उठाना पड़ा है। इकोनामिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार इस घटना के बाद चीन की नॉर्थ इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन द्वारा फिलहाल बंदूकों की सप्लाई पर रोक लगा दी गई है। इसके अलावा युद्धक टैंकों का उत्पादन भी बंद कर दिया गया है। फिलहाल इस बात की जांच की जा रही है कि यह फेल क्यों हो गए। वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान की चिंता यह है कि जो टैंक और बंदूकें ट्रायल के दौरान ही फेल हो गईं वे आगे कैसे काम करेंगी।

आपको बता दें अपने हथियारों के जखीरे में बढ़ोतरी के मकसद से पाकिस्तान ने चीन से हाल ही में 8 आर्टिलरी गन्स मंगवाई थी। लेकिन जब पाकिस्तान के सोनमियानी में इनका ट्रायल किया गया तो ये गन्स फायर ही नहीं कर सकीं। पाकिस्तान द्वारा चीनी कंपनियों से शिकायत करने के बाद अब जांच बिठा दी गई है कि आखिर ऐसा हुआ कैसे। चीन से पहले पाकिस्तान ज्यादातर हथियारों की खरीद अमेरिका से ही करता था, लेकिन बीते कुछ सालों से हथियारों के लिए उसने चीन पर अपनी निर्भरता बढ़ाई है। पाकिस्तान द्वारा इसी के तहत चीन को 203 एमएम की आर्टिलरी गन्स का आर्डर दिया गया था। शुरुआत में 8 बंदूकें सप्लाई की गई थीं, लेकिन वो सब भी जाम हो गईं और फायर नहीं कर सकीं।

पाकिस्तानी सेना की योजना थी कि यदि आर्टलरी गन्स की परफॉर्मेंस अच्छी होती है तो फिर चीन को बड़ा ऑर्डर दिया जाएगा, लेकिन चीन से मिले इस झटके ने पाकिस्तान को मायूस कर दिया है। चीन बीते कुछ सालों में पाकिस्तान को हथियार सप्लाई करने वाले देशों में सबसे आगें हो गया है। पाकिस्तान को हथियार सप्लाई करने के मामले में चीन के बाद दूसरा नंबर तुर्की का है। पाकिस्तान ने इससे पहले चीन से जो VT4 युद्ध टैंक खरीदे थे वह भी फायर करने में फेल हो गए थे। फिलहाल पाकिस्तान की शिकायत पर 44 नए टैंकों की डिलीवरी को भी रोक दिया गया है। तकनीकी खामी को दूर करने के बाद ही इस संबंध में कोई निर्णय लिया जाएगा।






Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

अंतर्राष्ट्रीय

झरोखे से...