पुतिन ने अमेरिकी आधिपत्य की आलोचना की

Putin on US
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को अमेरिका पर आरोप लगाया कि वह यूक्रेन में शत्रुता को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है और यह वैश्विक तौर पर आधिपत्य बनाए रखने के उसके कथित प्रयासों का हिस्सा है।

मास्को, 17 अगस्त (एपी)। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को अमेरिका पर आरोप लगाया कि वह यूक्रेन में शत्रुता को बढ़ावा देने का प्रयास कर रहा है और यह वैश्विक तौर पर आधिपत्य बनाए रखने के उसके कथित प्रयासों का हिस्सा है। पुतिन ने एक सुरक्षा सम्मेलन को संबोधित करते हुए एक बार फिर दावा किया कि उन्होंने यूक्रेन में सेना इसलिए भेजी क्योंकि अमेरिका उस देश को रूस विरोधी ढाल बनाने का प्रयास कर रहा था। इस सम्मेलन में अफ्रीका, एशिया और लातिन अमेरिका के सैन्य अधिकारियों ने भी भाग लिया।

उन्होंने आरोप लगाया, उन्हें अपना आधिपत्य कायम रखने के लिए संघर्षों की जरूरत है। इसीलिए वे यूक्रेन के लोगों को बलि का बकरा बना रहे हैं। यूक्रेन की स्थिति से पता चलता है कि अमेरिका संघर्ष को लंबा खींचने का प्रयास कर रहा है, और वह ठीक उसी तरह से काम कर रहा है जिस प्रकार एशिया, अफ्रीका और लातिनी अमेरिका में संघर्ष को बढ़ावा देने की कोशिश करता रहा है।” पुतिन ने यूक्रेन को अमेरिका के समर्थन की तुलना अमेरिकी संसद अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी की हालिया ताइवान यात्रा से की और आरोप लगाया कि दोनों घटनाक्रम वैश्विक अस्थिरता को बढ़ावा देने के कथित अमेरिकी प्रयास का हिस्सा हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि अमेरिकी नेता की ताइवान यात्रा स्थिति को अस्थिर बनाने और क्षेत्र तथा पूरी दुनिया में अराजकता पैदा करने के इरादे से जानबूझकर की गई।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़