जॉनसन के लिए की गई थी रूसी MI-17 की व्यवस्था, लेकिन ब्रिटिश PM ने अमेरिकी चिनूक हेलीकॉप्टर पर उड़ान भरी

Johnson
अभिनय आकाश । Apr 22, 2022 1:36PM
ब्रिटिश पीएम को गांधीनगर से वडोदरा जाना था। भारत सरकार ने इसके लिए गांधीनगर से हलोल के लिए रूसी हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की थी। लेकिन जॉनसन ने उस हेलीकॉप्टर से जाने से मना कर दिया। वजह हेलीकॉप्टर का मेड इन रूस होना था।

ब्रिटेन के राष्ट्रपति बोरिस जॉनसन इन दिनों भारत के दो दिवसीय दौरे पर हैं। आज पीएम नरेंद्र मोदी ने ब्रिटिश समकक्ष बोरिस जॉनसन से रक्षा, व्यापार और स्वच्छ ऊर्जा के क्षेत्र में आपसी सहयोग को ओर विस्तार देने के लिए विस्तृत चर्चा की। इससे पहले जॉनसन कल गुजरात भी गए थे। उन्होंने गुजरात में हलोल स्थित जेसीबी प्लांट का दौरा किया था। लेकिन इस दौरान एक ऐसा वाक्या हुआ जिसको लेकर काफी चर्चा है। दरअसल, ब्रिटिश पीएम को गांधीनगर से वडोदरा जाना था। भारत सरकार ने इसके लिए गांधीनगर से हलोल के लिए रूसी हेलीकॉप्टर की व्यवस्था की थी। लेकिन जॉनसन ने उस हेलीकॉप्टर से जाने से मना कर दिया। वजह हेलीकॉप्टर का मेड इन रूस होना था।

इसे भी पढ़ें: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने जहांगीरपुरी मामले पर कहा- हमेशा मुश्किल मुद्दे उठाते हैं

बताया जा रहा है कि भारत सरकार की तरफ से जॉनसन के लिए रूस निर्मित एमआई -17 की व्यवस्था की गई थी। लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध की पृष्ठभूमि में दो दिवसीय यात्रा पर भारत पहुंचे ब्रिटिश प्रधानमंत्री के अधिकारियों ने आग्रह किया कि जॉनसन के दौरों के लिए रूस में निर्मित हेलीकॉप्टर को उपयोग में नहीं लाया जाए। यूके के अधिकारियों की अपील पर भारत सरकार ने तुरंत 30-सीटर चिनूक चंडीगढ़ में आईएएफ बेस से सचिवालय हेलीपैड हलोल तक पहुंचा। ब्रिटिश पीएम की  20 मिनट की यात्रा के लिए चिनूक ने छह घंटे की उड़ान भरी। 

इसे भी पढ़ें: बुलडोजर की लोकप्रियता तो खूब बढ़ रही है, लेकिन इसके बारे में आप जानते कितना हैं?

ब्रिटेन की अपील के पीछे रूस यूक्रेन युद्ध के प्रति पश्चिमी देशों के नजरिए की भी भूमिका बेहद अहम है। अमेरिका के नेतृत्व में पश्चिमी देशों की तरफ से रूस के प्रति सख्त रूख अख्तियार किया हुआ है। यहां तक की भारत दौरे पर आए बोरिस जॉनसन ने रूस के प्रधानमंत्री व्लादिमीर पुतिन को मगरमच्छ तक कह दिया है। इसके साथ ही यूरोपीय देश रूस से हर हाल में दूरी बनाए रखना चाहते हैं चाहे वो वास्तवितक हो या सांकेतिक। अधिकारियों का भारत सरकार से हेलीकॉप्टर बदलने की अपील भी इसी कड़ी का हिस्सा है। 

अन्य न्यूज़