अमेरिका-चीन रिश्ते सुधरने की संभावना नहीं: सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली

US and China
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के प्रतिशोध के रूप में चीन ने संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ कई क्षेत्रों में सहयोग को रोकने की घोषणा की है, जिनमें वरिष्ठ स्तर के सैन्य कमांडरों के बीच बातचीत और जलवायु वार्ता शामिल है।

(गुरदीप सिंह) सिंगापुर, 9 अगस्त। अमेरिका और चीन के बीच रिश्ते सुधरने की संभावना नहीं है और दुनिया के महंगाई और ब्याज दर के उस निम्न स्तर पर लौटने के आसार नहीं है, जो निम्न स्तर हाल के दशकों में हुआ करता था। सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सीन लूंग ने मंगलवार को यह बात कही। लूंग ने चेताया कि हमारे चारों तरफ एक तूफान एकत्र हो रहा है।

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के प्रतिशोध के रूप में चीन ने संयुक्त राज्य अमेरिका के साथ कई क्षेत्रों में सहयोग को रोकने की घोषणा की है, जिनमें वरिष्ठ स्तर के सैन्य कमांडरों के बीच बातचीत और जलवायु वार्ता शामिल है। पिछले हफ्ते पेलोसी ने ताइवान का दौरा किया, जिससे बीजिंग को स्व-शासित द्वीप के आसपास के पानी में सैन्य अभ्यास करने के लिए उकसाया।

ली ने राष्ट्रीय दिवस पर अपने संदेश में कहा, “हमारे चारों ओर एक तूफान एकत्र हो रहा है। गंभीर मुद्दे, गहरे संदेह और सीमित जुड़ाव के कारण अमेरिका-चीन संबंध खराब हो रहे हैं। सिंगापुर के 57वें राष्ट्रीय दिवस की पूर्व संध्या पर उन्होंने कहा कि सिंगापुर के वासियों को भी तैयार रहना होगा, क्योंकि यह क्षेत्र अब उतना शांतिपूर्ण और स्थिर नहीं रह सकता है, जितना अब तक था। उन्होंने कहा कि हाल के दशकों में दुनिया मुद्रास्फीति और ब्याज दरों के जिस निम्न स्तर का आनंद ले रही थी, अब उस निम्न स्तर पर दुनिया के लौटने की संभावना नहीं है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़