कोविड-19 ‘हॉटस्पॉट’ में शामिल कोलंबो में कल से खुलेंगे कुछ होटल और रेस्टोरेंट्स

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 25, 2020   18:50
कोविड-19 ‘हॉटस्पॉट’ में शामिल कोलंबो में कल से खुलेंगे कुछ होटल और रेस्टोरेंट्स

कोलंबो नगर परिषद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी रुवन विजेमुनी ने कहा कि सरकारी पर्यटन बोर्ड ने कोलंबो में सख्त स्वास्थ्य दिशानिर्देशों के साथ शहर में रेस्तराओं को खोलने की मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के छह दस्तों को इन होटलों की निगरानी की जिम्मेदारी सौंपी गई है जो देखेंगे कि नियमों का पालन हो रहा है या नहीं।

कोलंबो। श्रीलंका में कोरोना वायरस के ‘‘हॉटस्पॉट’’ में से एक कोलंबो में मंगलवार से कुछ होटलों और रेस्तराओं को खोलने की इजाजत दी जाएगी और राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन में दी जा रही रियायतों के तहत यह कदम उठाए जा रहे हैं। इसके तहत कर्फ्यू के घंटों में भी कटौती की जा रही है। राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने शनिवार को कहा था कि श्रीलंका 26 मई से पाबंदियों में कुछ रियायत देगा जिसमें कर्फ्यू की सीमा भी घटाकर रात 10 बजे से सुबह चार बजे तक की जाएगी। कोरोना वायरस संक्रमण से लड़ने के लिये श्रीलंका में 20 मार्च से ही 24 घंटे का कर्फ्यू लागू है। इस दौरान हालांकि ऐसे कुछ इलाकों में कर्फ्यू में ढील दी जाती रही है जहां इस घातक वायरस का प्रसार खतरनाक नहीं माना गया। कोलंबो और गंपाहा जिलों को कोरोना वायरस हॉटस्पॉट (सबसे ज्यादा प्रभावित क्षेत्र) के तौर पर चिन्हित किया गया था और वहां 20 मार्च से ही 24 घंटे कर्फ्यू लागू है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना के कारण राष्ट्रपति ट्रंप ने ब्राजील पर लगाया यात्रा प्रतिबंध

कोलंबो नगर परिषद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी रुवन विजेमुनी ने कहा कि सरकारी पर्यटन बोर्ड ने कोलंबो में सख्त स्वास्थ्य दिशानिर्देशों के साथ शहर में रेस्तराओं को खोलने की मंजूरी दी है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के छह दस्तों को इन होटलों की निगरानी की जिम्मेदारी सौंपी गई है जो देखेंगे कि नियमों का पालन हो रहा है या नहीं। कोलंबो में मंगलवार से दिन में कर्फ्यू नहीं रहेगा। इससे पहले सरकार ने कार्यालयों और कारोबार को 11 मई से सीमित कर्मचारियों के साथ खोलने की इजाजत दे दी थी। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि विवाह में अधिकतम 100 मेहमानों की इजाजत होगी और यह स्वागत हाल की क्षमता के 40 प्रतिशत से कम होनी चाहिए। स्वास्थ्य उप महानिदेशक लक्ष्मण गमलत ने कहा, “अपने मेहमानों की संख्या जहां तक हो सके, कम रखिये जिससे अगर शादी में शामिल कोई व्यक्ति संक्रमित हो गया तो हमें यह पता करने में आसानी होगी कि उसके संपर्क में कौन लोग थे और उन्हें पृथक-वास में भेजा जा सकेगा।” मंत्री ने कहा कि गले मिलना और हाथ मिलाने से बचना चाहिए। विवाह में सभी मेहमानों का मास्क पहनना जरूरी है। अमेरिकी की जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक अब तक यहां 1,148 संक्रमण के मामले मिले हैं जबकि नौ लोगों की मौत हुई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।