एशिया के पहले समलैंगिक विवाह विधेयक पर वोट करेगी ताइवान की संसद

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: May 17 2019 12:38PM
एशिया के पहले समलैंगिक विवाह विधेयक पर वोट करेगी ताइवान की संसद
Image Source: Google

न्यायाधीश ने सरकार को कानून में बदलाव करने के लिए इस साल 24 मई तक का समय दिया है। लेकिन उनके पास कोई दिशा निर्देश नहीं है कि यह कैसे किया जाएगा।

ताइपे। ताइवान की संसद में एशिया के पहले समलैंगिक विवाह कानून पर शुक्रवार को बहस शुरू हो गई। रूढ़िवादी सांसदों ने ‘‘नागरिक संघ’’  कानून के पक्ष में सबसे प्रगतिशील विधेयक को रोकने की कोशिश की।

भाजपा को जिताए

इस मुद्दे पर बहस चलने के कारण भारी बारिश के बावजूद सैकड़ों समलैंगिक अधिकार समर्थक संसद के समीप एकत्रित हो गए। इस मुद्दे को लेकर देश के लोगों की राय बंटी हुई है। गौरतलब है कि ताइवान की शीर्ष अदालत ने कहा था कि एक ही लिंग के जोड़ों को शादी करने की अनुमति ना देना संविधान का उल्लंघन होगा। 
न्यायाधीश ने सरकार को कानून में बदलाव करने के लिए इस साल 24 मई तक का समय दिया है। लेकिन उनके पास कोई दिशा निर्देश नहीं है कि यह कैसे किया जाएगा।


 
 
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story