क्या तालिबान ने हेलीकॉप्टर से लटका कर इस शख्स को दी फांसी? जानें वायरल वीडियो की सच्चाई

क्या तालिबान ने हेलीकॉप्टर से लटका कर इस शख्स को दी फांसी? जानें वायरल वीडियो की सच्चाई

तालिबानी सज़ा के रूप में बताए जा रहे इस वीडियो की सच्चाई अब सामने आई है। स्थानीय पत्रकारों के मुताबिक, हेलीकॉप्टर से लटकने वाले शख्स को कोई सजा नहीं दी गई है बल्कि यह व्यक्ति करीब 100 मीटर ऊपर तालिबान का झंडा लगाने का काम कर रहा है। हेलीकॉप्टर से उसे इसलिए लटकाया गया है, जिससे वह इतनी ऊंचाई तक पहुंच सके।

काबुल पर तालिबान के कब्जे के बाद से उसकी तरफ से ये दावे किए जा रहे थे कि वो बदल गए हैं। तालिबान का बदला हुआ रूप है। 31 अगस्त को अमेरिका ने अपने 20 सालों के सैन्य अभियान को अफगानिस्तान में समाप्त कर वतन वापसी कर ली। यकीन इसके बाद एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें ये दावा किया गया कि वॉर हेलीकॉप्टर से युवक को तालिबानी सज़ा दी गयी है। ऐसे में जानते हैं क्या है पूरा मामला और इस दावे के पीछे कितनी सच्चाई है। दरअसल, तालिबानी राज के पहले दिन ही एक वीडियो सामने आया जिसे पहली ही सजा का वीडियो बताया गया। जिसमें वॉर हेलिकॉप्टर ब्लैक हॉक से तालिबानी सजा की शुरुआत होने के दावे किए गए। कई मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि हेलीकॉप्टर से बांध कर एक शख्स को घुमाया जा रहा है। शख्स को काफी समय तक हेलीकॉप्टर में बांध कर आंतकियों द्वारा घुमाया गया है। रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि हेलीकॉप्टर में लटकाया गया शख्स अमेरिकी ट्रांसलेटर था।

इसे भी पढ़ें: तालिबानी नेता का इंटरव्यू लेने वालीं एंकर बेहेश्ता अरघंद ने अफगानिस्तान को कहा अलविदा, जानिए इसकी वजह

वायरल वीडियो में बताया जा रहा था कि अफ़ग़ान सैनिकों से कब्जाए हेलीकॉप्टर पर कब्जा कर तालिबानी लड़कों ने शख्स को रस्सी से लटका कर घुमाया है।

क्या है वायरल वीडियो की सच्चाई

तालिबानी सज़ा के रूप में बताए जा रहे इस वीडियो की सच्चाई अब सामने आई है। स्थानीय पत्रकारों के मुताबिक, हेलीकॉप्टर से लटकने वाले शख्स को कोई सजा नहीं दी गई है बल्कि यह व्यक्ति करीब 100 मीटर ऊपर तालिबान का झंडा लगाने का काम कर रहा है। हेलीकॉप्टर से उसे इसलिए लटकाया गया है, जिससे वह इतनी ऊंचाई तक पहुंच सके।