टेरेसा मे पर ब्रेक्जिट से हटने के लिए मंत्रिमंडल के सदस्य बना रहे हैं दबावम

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 25, 2019   16:48
टेरेसा मे पर ब्रेक्जिट से हटने के लिए मंत्रिमंडल के सदस्य बना रहे हैं दबावम

उन्होंने कहा, ‘‘यह प्रधानमंत्री के बारे में नहीं है...प्रधानमंत्री बदलने से कुछ नहीं होगा, सरकार किस पार्टी की है यह बदलने से भी कुछ नहीं होगा।’’ साथ ही उन्होंने कहा कि यूरोपीय संघ (ईयू) पर दूसरे जनमत संग्रह को लेकर विचार करना चाहिए।

लंदन। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरेसा मे पर उनके ही मंत्रिमंडल द्वारा ब्रेक्जिट प्रक्रिया से हटने का दबाव बनाया जा रहा है। ब्रिटेन मीडिया की खबरों के अनुसार मे के अगले सप्ताह तीसरी बार होने वाले मतदान में विवादस्पद समझौते का समर्थन करने से नाराज मंत्री और सांसद उन्हें इस्तीफा देने का अल्टीमेटम दे सकते हैं। उस स्थिति में उप-प्रधानमंत्री डेविड लिडिंग्टन कार्यवाहक प्रधानमंत्री हो सकते हैं।

‘डाउनिंग स्ट्रीट’ ने हालांकि लिडिंग्टन से जुड़ी ऐसी खबरों को खारिज कर दिया। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वह ‘‘ 100 प्रतिशत प्रधानमंत्री के साथ हैं।’’ वहीं ब्रिटेन के चांसलर फिलिप हैमंड ने भी सांसदों से मे के साथ एकजुटता दिखाने की अपील की।

इसे भी पढ़ें: EU नेताओं ने ब्रेक्जिट के लिए और समय देने संबंधी दो विकल्प किए पेश

उन्होंने कहा, ‘‘ यह प्रधानमंत्री के बारे में नहीं है...प्रधानमंत्री बदलने से कुछ नहीं होगा, सरकार किस पार्टी की है यह बदलने से भी कुछ नहीं होगा।’’ साथ ही उन्होंने कहा कि यूरोपीय संघ (ईयू) पर दूसरे जनमत संग्रह को लेकर विचार करना चाहिए। मंत्रिमंडल के वरिष्ठ मंत्री ने कहा, ‘‘ यह एक सुसंगत प्रस्ताव है और अन्य प्रस्तावों के साथ विचार करने योग्य है।’’

इसे भी पढ़ें: ब्रिटिश स्पीकर ने प्रधानमंत्री टेरेसा के ‘ब्रेक्जिट’ समझौते पर तीसरी बार मतदान से इंकार किया

गौरलतब है कि ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से 29 मार्च को अलग होना था, लेकिन यदि ब्रिटेन के सांसद ब्रेक्जिट संबंधी समझौते को अगले सप्ताह मंजूरी दे देते हैं तो ब्रेक्जिट के लिए 22 मई तक इंतजार किया जा सकता है। यदि हाउस ऑफ कॉमन्स पहले दो बार की तरह इस बार भी समझौते को खारिज कर देता है और ब्रिटेन इस साल यूरोपीय संघ चुनाव में भाग लेने का फैसला नहीं करता है तो ब्रेक्जिट 12 अप्रैल को होगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।