परिवार की प्रताड़ना से सऊदी अरब छोड़कर भागी दो बहनों ने बया किया अपना दर्द

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 23, 2019   17:32
परिवार की प्रताड़ना से सऊदी अरब छोड़कर भागी दो बहनों ने बया किया अपना दर्द

दोनों बहनों ने अपना नाम बदल लिया है और रीम तथा रवान रखा है। वे रियाद के मध्य वर्गीय परिवार में अपनी परवरिश से काफी नाखुश हैं। उन्होंने दावा किया कि उन्हें नमाज़ के लिए देर से उठने जैसी मामूली बातों पर उनके पिता और उनका भाई पीटा करता था।

हांगकांग। हांगकांग में फंसी सऊदी अरब की दो बहनों का आरोप है कि उनके परिवार के पुरूष सदस्यों द्वारा किए जाने वाले शारीरिक प्रताड़ना के कारण वे अपने मुल्क से यहां भाग आईं, लेकिन उन्हें अब स्वदेश वापस भेजे जाने का डर सता रहा है। दोनों बहनों ने कहा है कि उन्हें स्वदेश लौटने पर परिवार के गुस्से का सामना कर ने का डर सता रहा है। सऊदी से महिलाओं के बच कर भाग निकलने की कड़ी में यह एक नय उदाहरण है। लेकिन वहां के अधिकारी और उनके परिवार के नाराज सदस्य उनकी तलाश में लगे रहते हैं। सऊदी अरब की उसके खराब मानवाधिकार रिकॉर्ड के लिए आलोचना की जाती है। दरअसल, 20 और 18 साल की दोनों बहनें हांगकांग में फंस गई हैं क्योंकि शहर के एक हवाई अड्डे पर एक उड़ान के रूकने के दौरान सऊदी वाणिज्य दूतावास के अधिकारियों ने कथित रूप से उन्हें रोक लिया था और बाद में उनका पासपोर्ट रद्द कर दिया था।

इसे भी पढ़ें: भारत के बाद सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान चीन पहुंचे

दोनों बहनों ने अपना नाम बदल लिया है और रीम तथा रवान रखा है। वे रियाद के मध्य वर्गीय परिवार में अपनी परवरिश से काफी नाखुश हैं। उन्होंने दावा किया कि उन्हें नमाज़ के लिए देर से उठने जैसी मामूली बातों पर उनके पिता और उनका भाई पीटा करता था। रीम ने एएफपी से कहा, ‘‘ उन्होंने मुझे पीटना शुरू कर दिया... मेरे पिता ने उन्हें नहीं रोका। वह समझते हैं कि यह उन्हें मर्द बनाता है।’’ दोनों बहनों ने विदेश में छुट्टी मनाने के दौरान अपनी आजादी हासिल करने का फैसला किया। उन्होंने दो साल पहले यात्रा की योजना बनाई। उन्हें यह मौका पिछले साल सितंबर में मिला जब परिवार श्रीलंका में छुट्टी मना रहा था।

इसे भी पढ़ें: सऊदी युवराज ने दिया आदेश, 850 भारतीय कैदियों को रिहा किया जाए

जब उनके माता-पिता सो रहे थे तो दोनों बहनों ने अपना पासपोर्ट निकाला और कोलंबो से एक हांगकांग तक की एक उड़ान में सवार हो गईं। उन्होंने दावा किया कि शहर के हवाई अड्डे पर उन्हें कई अज्ञात व्यक्तियों ने रोका। इसमें से एक व्यक्ति ने उन्हें रियाद जाने वाले विमान में बैठाने की कोशिश भी की। हांगकांग के सुरक्षा मंत्री जॉन ली ने शुक्रवार को कहा कि पुलिस को दो अलग अलग रिपोर्टें मिली हैं, जिनमें एक गुमशुदा व्यक्तियों के संबंध में है, जबकि दूसरी जांच के संबंध में है। उन्होंने इसके अलावा और जानकारी नहीं दी। रीम ने कहा, ‘‘या तो वे हमारी हत्या कर देंगे...या हमें रिश्ते के भाइयों से शादी करने के लिए मजबूर कर देंगे।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।