कर्नाटक में कोरोना के 100 नये मामले, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2282 हुयी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   15:42
कर्नाटक में कोरोना के 100 नये मामले, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2282 हुयी

बुलेटिन के अनुसार मंगलवार को 17 मरीजों को अस्पताल से इलाज के बाद छुट्टी दी गई। इसके अनुसार 100 नये मामलों में से 46 संक्रमित व्यक्ति ऐसे हैं जो पड़ोसी महाराष्ट्र से वापस आये हैं, 21 तमिलनाडु से, 13 झारखंड से और एक गुजरात से आया है। चार अन्य कतर से आये हैं।

बेंगलुरू। कर्नाटक में कोरोना वायरस के संक्रमण के 100 ताजा मामले सामने आये हैं जिसके साथ ही प्रदेश में इससे संक्रमित लोगों की संख्या 2282 हो गयी है। स्वास्थ्य विभाग ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी। कर्नाटक सरकार की ओर से जारी दोपहर के बुलेटिन में कहा गया कि इस बीमारी से राज्य में अबतक 44 मरीजों की मौत हो गयी है जबकि 722 संक्रमितों को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। प्रदेश में अभी 1514 मरीजों का इलाज चल रहा है। बुलेटिन के अनुसार मंगलवार को 17 मरीजों को अस्पताल से इलाज के बाद छुट्टी दी गई। इसके अनुसार 100 नये मामलों में से 46 संक्रमित व्यक्ति ऐसे हैं जो पड़ोसी महाराष्ट्र से वापस आये हैं, 21 तमिलनाडु से, 13 झारखंड से और एक गुजरात से आया है। चार अन्य कतर से आये हैं।

बुलेटिन के अनुसार बाकी मामलों में दस ऐसे लोग हैं जो संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आने से संक्रमण की चपेट में आये हैं, दो को इन्फ्लुएंजा की तरह की बीमारी है जबकि एक का एसएआरआई का इतिहास है। दो मरीजों के संपर्क का पता लगाया जा रहा है। प्रदेश के जिन जिलों में नये मामले आये हैं उनमें चित्रदुर्ग में 20, यादगिर में 14, बेलगावी एवं हासन में 13-13 मामले, दाावणगेरे में 11, बीदर में 10, विजयपुरा में पांच, दक्षिण कन्नडा एवं उडुपी में तीन तीन मामले, बेंगलुरू शहरी एवं कोलार में दो दो तथा बागलकोट, चिकबल्लापुरा, कोपल एवं बेल्लारी में एक एक मामला शामिल है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।