मुजफ्फरनगर में 26 मुस्लिमों की पुन: हिंदू धर्म में हुई वापसी, कुछ लोगों के बहकावे में 15 साल पहले अपनाया था इस्लाम

मुजफ्फरनगर में 26 मुस्लिमों की पुन: हिंदू धर्म में हुई वापसी, कुछ लोगों के बहकावे में 15 साल पहले अपनाया था इस्लाम

यशवीर आश्रम के महंत स्वामी यशवीर जी महाराज ने 26 सदस्यों का पूरे विधिविधान से मंत्रोच्चार के साथ शुद्धिकरण किया और उनकी हिंदू धर्म में वापसी कराई। स्वामी यशवीर जी महाराज ने पिछले कुछ महीनो में करीब 60 लोगों की हिन्दू धर्म में वापसी कराई है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में लगातार हिंदू से मुसलमान बने लोग वापस अपना धर्म अपना रहे हैं। यहां के तितावी इलाके में स्थित योग साधना यशवीर आश्रम शुद्धि यज्ञ करवाकर दो मुस्लिम परिवारों के 26 सदस्यों की हिंदू धर्म में वापसी कराई गई। इन लोगों के बकायदा हिंदू धर्म के नाम भी रखे गए। 

इसे भी पढ़ें: साले और बीवी से परेशान पति ने शादी के एक हफ्ते बाद ही उठा लिया ये बड़ा कदम 

जनेऊ धारण कर बने पुन: हिंदू

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, यशवीर आश्रम के महंत स्वामी यशवीर जी महाराज ने 26 सदस्यों का पूरे विधिविधान से मंत्रोच्चार के साथ शुद्धिकरण किया और उनकी हिंदू धर्म में वापसी कराई। स्वामी यशवीर जी महाराज ने पिछले कुछ महीनो में करीब 60 लोगों की हिन्दू धर्म में वापसी कराई है। इसी क्रम में उन्होंने सोमवार को दो मुस्लिम परिवारों के 26 सदस्यों को जनेऊ धारण कराकर हिंदू बनाया। 

दबाव में अपनाया था मुस्लिम धर्म 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक स्वामी यशवीर जी महाराज ने बताया कि सहारनपुर के रहने वाले दोनों परिवारों ने कुछ लोगों के दबाव में आकर मुस्लिम धर्म अपनाया था और उनका आधार कार्ड भी बनवा दिया था। लेकिन भाजपा की सरकार आने के बाद उनका हृदय परिवर्तन हुआ और उन्होंने हिंदू धर्म में वापसी करने की इच्छा जताई। 

इसे भी पढ़ें: महिला को बंधक बना कर किया तीन दिन तक दुष्कर्म 

इन परिवारों ने तकरीबन 15 साल पहले मुस्लिम धर्म अपनाया था लेकिन अब यह परिवार वापस से हिंदू बन चुके हैं। नाजिया से सोनिया बनी एक महिला ने अपने हिंदू धर्म में वापसी कर काफी खुश नजर आई।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।