झारखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के 4,000 नए मामले, पांच मरीजों की मौत

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 14, 2022   11:09
झारखंड में कोरोना वायरस संक्रमण के 4,000 नए मामले, पांच मरीजों की मौत

झारखंड में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 4,000 नए मामले सामने आए जबकि संक्रमण से पांच लोगों की मौत हो गयी। झारखंड में आज लगातार दसवें दिन कोरोना विस्फोट जारी रहा और सिर्फ 24 घंटों में राजधानी रांची में 1,295, जमशेदपुर में 906 कोरोना संक्रमित लोग मिले।

रांची। झारखंड में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना वायरस संक्रमण के 4,000 नए मामले सामने आए जबकि संक्रमण से पांच लोगों की मौत हो गयी। झारखंड में आज लगातार दसवें दिन कोरोना विस्फोट जारी रहा और सिर्फ 24 घंटों में राजधानी रांची में 1,295, जमशेदपुर में 906 कोरोना संक्रमित लोग मिले जिन्हें मिलाकर राज्य में कुल 4,000 नये मामले दर्ज किये गये। वहीं, आज भी राज्य में जीनोम अनुक्रमण जांच की एक भी मशीन नहीं आ सकी, जिसकी वजह से अब तक इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि इस समय जारी कोरोना विस्फोट वायरस के नए स्वरूप ओमीक्रोन के संक्रमण से है अथवा पुराने कोरोना संक्रमण के चलते ही है।

इसे भी पढ़ें: शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 400 अंक से अधिक गिरा, निफ्टी 18,200 से नीचे

झारखंड सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा बृहस्पतिवार रात्रि जारी आंकड़ों के अनुसार, राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 4000 नये मामले दर्ज किये गये हैं। रिपोर्ट में बताया गया है कि वर्तमान में राज्य में 32250 मरीज उपचाराधीन हैं जबकि पिछले 24 घंटों में 2731 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त भी हुए हैं। पिछले 24 घंटों में राज्य में कुल 68,667 लोगों की कोरोना जांच की गयी जिनमें से 4000 संक्रमित पाये गये।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के नए प्रतिबंधों के बाद उत्तर कोरिया ने ‘‘कड़ी’’ कारवाई की चेतावनी दी

राज्य में कोरोना से पांच लोगों की मौत हुई जिनमें से रांची में दो, जमशेदपुर, सराइकेला हजारीबाग में एक-एक कोविड मरीजों की मौत हुई। राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या आज कुल 5189 हो गयी। राज्य में बृहस्पतिवार को कुल 37,209 लोगों को कोविड-रोधी टीके लगाये गये। अब तक झारखंड में कुल मिलाकर 3,21,42,740 टीके लगाये जा चुके हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।