घाटी में जारी है ऑपरेशन ऑलआउट, पिछले 24 घंटे में मारे गए 5 आतंकी

घाटी में जारी है ऑपरेशन ऑलआउट, पिछले 24 घंटे में मारे गए 5 आतंकी

हालात को भांपते हुए प्रशासन ने बारामुला, सोपोर व बांडीपोर में एहतियातन मोबाइ्रल इंटरनेट सेवाओं को अगले आदेश तक बंद कर दिया है। सोपोर और बांडीपोर में संबधित प्रशासन ने शुक्रवार को सभी शिक्षण संस्थान भी बंद रखने का फैसला किया है।

जम्‍मू। कश्मीर में कल से तीन जगहों पर आतंकियों  के साथ जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। पिछले 24 घंटों में सेना ने घाटी में पांच आतंकियों को ढेर कर दिया है। मारे गए आतंकियों में जैश का एक टॉप कमांडर भी शामिल है। बारामुला, सोपोर और बांडीपोर में शुक्रवार को हुई तीन अलग अलग मुठभेड़ों में तीन आतंकी मारे गए और एक मेजर समेत सात सैन्यकर्मी भी जख्मी हुए।। हाजिन में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों से बचने के लिए आतंकियों ने 12 वर्षीय किशोर को बंधक बनाया। वहीं सोपोर में आतंकियों की घेराबंदी में जुटे सुरक्षाबलों पर भी ग्रेनेड से हमला हुआ,जिसमें एक थाना प्रभारी समेत दो पुलिसकर्मी जख्मी हुए। तीनों ही मुठभेड़ों के दौरान आतंकी समर्थक तत्वों और सुरक्षाबलों के बीच हिंसक झढ़पें भी हुई जिनमें एक डीएसपी समेत चार पुलिसकर्मी, एक एंबुलेंस चालक व आठ पत्थरबाज जख्मी हुए हैं।

इसे भी पढ़ें: जवानों के बलिदान के पीछे छिप रहे हैं मोदी, कांग्रेस बोली- रोजगार, अर्थव्यवस्था चुप क्यों

हालात को भांपते हुए प्रशासन ने बारामुला, सोपोर व बांडीपोर में एहतियातन मोबाइ्रल इंटरनेट सेवाओं को अगले आदेश तक बंद कर दिया है। सोपोर और बांडीपोर में संबधित प्रशासन ने शुक्रवार को सभी शिक्षण संस्थान भी बंद रखने का फैसला किया है। बारामुला से मिली सूचनाओं के मुताबिक, कंडी कलांतरा में गत शाम को शुरु किया गया आतंकरोधी अभियान आज भी जारी रहा। गत शाम एक संक्षिप्त मुठभेड़ के दौरान आतंकी अपना ठिकाना छोड़ बच निकले थे। लेकिन सुरक्षाबलों ने घेराबंदी काे जारी रखा था। आज सुबह दस बजे के करीब जवानों ने आतंकियों को घेरते हुए उन्हें आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। लेकिन आतंकियों ने जवानों पर फायरिंग कर दी। जवानों ने भी तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। 

इसके बाद वहां एक भीषण मुठभेड़ शुरु हो गई जो देर शाम गए तक जारी रही। इसमें दो आतंकी मारे गए। मारे गए आतंकियों में एक सोपोर का रहने वाला आमिर कब्बू बताया जाता है जबकि दूसरा कोई विदेशी आतंकी हो सकता है। लेकिन इस दौरान एक मेजर समेत सात सैन्यकर्मी भी जख्मी हो गए। घायल सैन्यकर्मियों में से मेजर व एक पैरा कमांडो की हालत चिंताजनक है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता ने तीन आतंकियों के मारे जाने का दावा किया है। लेकिन एसएसपी बारामुला अब्दुल क्यूम ने दो ही आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि करते हुए बताया कि दो ही शव मिले हैं। उन्होंने कहा कि तीसरे आतंकी की तलाश जारी है।

इसे भी पढ़ें: CRPF के 80वें स्थापना दिवस पर बोले डोभाल, आतंकवाद से निपटने में हम पूरी तरह सक्षम

इस बीच, कलांतरा में मुठभेड़ शुरू होने के साथ ही बड़ी संख्या में आतंकी समर्थक तत्व भी मुठभेड़ पर जमा हो गए। उन्होंने सुरक्षाबलों को आतंकियों पर जवाबी फायर से रोकते हुए उन पर पथराव शुरु कर दिया। इस पर पुलिस को भी उन्हें खदेड़ने के लिए बल प्रयोग करना पड़ा और देखते ही देखते हिसंक झढ़पों का दौर शुरु हो गया। हिंसक झढ़पों में एक पुलिस डीएसपी समेत चार पुलिसकर्मी, एक एंबुलेंस चालक व दो पत्थरबाज भी जख्मी हुए हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।