कांगड़ा में कोविड टेस्टिंग पर विशेष ध्यान दे रहा प्रशासन, चामुंडा तथा ज्वालामुखी मंदिर में भी सुविधा

कांगड़ा में कोविड टेस्टिंग पर विशेष ध्यान दे रहा प्रशासन, चामुंडा तथा ज्वालामुखी मंदिर में भी सुविधा

उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि मंदिरों में हजारों की संख्या में श्रद्वालु माथा टेकने आते हैं जिसके चलते ही इन स्थानों पर कोविड टेस्टिंग सेंटर स्थापित किए गए हैं ताकि कोविड संक्रमण को फैलने से रोका जा सके।

धर्मशाला। कांगड़ा जिला के प्रमुख शक्तिपीठ ज्वालामुखी तथा चामुंडा मंदिर परिसर में ही श्रद्वालुओं तथा कर्मचारियों को कोविड टेस्ट की सुविधा मिलेगी इस बाबत शुक्रवार को चामुंडा तथा ज्वालामुखी में कोविड टेस्ट सेंटर खोल दिए गए हैं। यह जानकारी देते हुए उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि ज्वालामुखी में कोविड टेस्टिंग सेंटर में अस्सी लोगों को सेंपल लिए गए जबकि चामुंडा में 50 लोगों के कोविड सेंपल एकत्रित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि कांगड़ा जिला में कोविड टेस्टिंग पर विशेष बल दिया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह अर्की विधानसभा सीट से लड़ सकती हैं उपचुनाव 

उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि मंदिरों में हजारों की संख्या में श्रद्वालु माथा टेकने आते हैं जिसके चलते ही इन स्थानों पर कोविड टेस्टिंग सेंटर स्थापित किए गए हैं ताकि कोविड संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। उन्होंने कहा कि मंदिर के नजदीक आइसोलेशन रूम स्थापित किया गया है। कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्ति को स्वास्थ्य कर्मी द्वारा कोरोना का सैंपल लिए जाने के उपरांत संक्रमित पाए गए व्यक्ति को आइसोलेट किया जाएगा।

उपायुक्त डा निपुण जिंदल ने कहा कि मंदिरों में कोविड प्रोटोकॉल की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए भी आवश्यक निर्देश दिए गए हैं, मंदिरों के प्रवेश द्वार पर सेनिटाइजर इत्यादि की व्यवस्था करने तथा सामाजिक दूरी की भी अनुपालना सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है ताकि कोविड संक्रमण से बचाव किया जा सके। 

इसे भी पढ़ें: पेगासस जासूसी मामला: भाजपा प्रवक्ता रणधीर शर्मा ने कांग्रेस के रवैए पर साधा निशाना, कही यह बात 

उन्होंने कहा कि मंदिर परिसर में हवन, भजन, विवाह और मुंडन संस्कार तथा जागरण की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने कहा कि अभी भी कोविड से बचाव की जरूरत है। कोविड की संभावित तीसरी लहर से बचने के लिए प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं जबकि लोगों को भी कोविड प्रोटाकॉल का पूरा ध्यान रखना चाहिए उन्होंने कहा कि अब ग्रामीण स्तर पर भी कोविड को लेकर रेंडम सेंपलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं। इसके साथ ही कोविड संक्रमितों की संपर्क सूची के आधार पर भी सुचारू टेस्टिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग को कहा गया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...