यूपी में दूसरे दिन भी एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल, दांव पर लगी मरीजों की जान

यूपी में दूसरे दिन भी एंबुलेंस कर्मियों की हड़ताल, दांव पर लगी मरीजों की जान

समझौता न होने पर एंबुलेंस कार्मियों की हड़ताल तमाम जिलों में दूसरे दिन भी जारी है। आज भी यूपी में दूसरे दिन भी एंबुलेंस नहीं चली। इनके साथ ही 108 एवं 102 एंबुलेंस सेवा के भी कर्मचारी इनके पक्ष में उतर आए थे और कार्य बंद कर दिया था।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 250 एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम (एएलएस) की एंबुलेंस चला रहे कर्मचारियों को उनकी नई कंपनी द्वारा कम वेतन दिए जाने और ट्रेनिंग के नाम पर 20 हजार रुपए लिए जाने से नाराज होकर  करीब एक हजार एम्बुलेंस कर्मचारी जो कल हड़ताल पर चले गए थे। समझौता न होने पर एंबुलेंस कार्मियों की हड़ताल तमाम जिलों में दूसरे दिन भी जारी है। आज भी यूपी में दूसरे दिन भी एंबुलेंस नहीं चली। इनके साथ ही 108 एवं 102 एंबुलेंस सेवा के भी कर्मचारी इनके पक्ष में उतर आए थे और कार्य बंद कर दिया था। जिसका बुरा असर पूरे प्रदेश की एंबुलेंस सेवाओं पर पड़ा है। कुल 4720 एंबुलेंस पर तैनात करीब 23 हजार कर्मचारियों की शासन से वार्ता विफल होने के बाद एंबुलेंस कर्मी हड़ताल पर गए हैं। मालूम हो कि अभी तक जीवीकेइएमआरआइ एएलएस, 108 व 102 एम्बुलेंस सेवा का संचालन कर रही थी लेकिन एएलएस एंबुलेंस सेवा के संचालन की जिम्मेदारी बीते दिनों जिगित्सा हेल्थ केयर को सौंपी गई थी।एंबुलेंस कर्मी हरदोई,सीतापुर,गोण्डा,शाहजहांपुर आदि जिलों में जिला चिकित्सालयों के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: अखिलेश यादव के नाम पर बनाया गया फर्जी ट्विटर अकाउंट, नफरत फैलाने वाले अज्ञातों पर केस

इससे पूर्व जीवनदायिनी एंबुलेंस कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने विभिन्न मांगों को लेकर तीन दिनों तक तक धरना प्रदर्शन किया था,लेकिन देर रात तक मांगे पूरी न होने पर आज से कर्मियों ने हड़ताल शुरू कर दी,जिससे एंबुलेंस के पहिए जाम हो गये तो मरीजो की जान के लाले पड़ गए।। संघ के पदाधिकारियों ने मांगे पूरी न होने तक हड़ताल जारी रखने के निर्देश दिए। बता दें कि तमाम जिलों में 102 की 48, 108 की 47 और चार एएलएस एंबुलेंस चल रही हैं, जो मरीजों को घर से स्वास्थ्य केंद्र और अस्पताल तक पहुंचाती हैं। इनका संचालन जीवीके कंपनी के द्वारा किया जा रहा था। अब एएलएस एंबुलेंस संचालन की जिम्मेदारी जिगित्सा हेल्थ लिमिटेड को सौंप दी गई है। जिगित्सा हेल्थ लिमिटेड ने पुराने और अनुभवी कर्मियों को रखने के बजाए नए कर्मियों की भर्ती के लिए विज्ञापन जारी कर दिया और भर्ती भी शुरू कर दी है। इससे नाराज एएलएस एंबुलेंस कर्मियों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। जब एंबुलेंस कर्मियों की मांगे पूरी नहीं हुई तो कर्मियों ने देर रात हड़ताल की घोषणा कर दी। देहात क्षेत्र के हरदोई-शाहजहांपुर मार्ग पर चौपाल सागर के सामने कर्मियों ने सभी एंबुलेंस को खड़ा कर दिया और हड़ताल शुरू कर दी है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।