अमेरिकी रक्षा कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने भारत के लिए नया लड़ाकू विमान एफ-21 प्रदर्शित किया

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 20, 2019   16:19
अमेरिकी रक्षा कंपनी  लॉकहीड मार्टिन ने भारत के लिए नया लड़ाकू विमान एफ-21 प्रदर्शित किया

यह बेमिसाल औद्योगिक अवसर भी उपलब्ध कराता है और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों पर भारत-अमेरिका सहयोग की घनिष्ठता को मजबूत करता है।’’

बेंगलूरू। अमेरिकी रक्षा एवं एयरोस्पेस कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने बुधवार को भारत के लिए नया लड़ाकू विमान एफ-21 प्रदर्शित किया जिसका विनिर्माण स्थानीय स्तर पर होगा। कंपनी की नजर अरबों डॉलर के सैन्य ऑर्डर पर है। कंपनी ने यहां एयर शो ‘एयरो-इंडिया 2019’ के पहले दिन योजना की घोषणा करते हुए कहा कि भारतीय वायुसेना के लिए विशेष तौर पर तैयार किया गया एफ-21 विमान ‘मेक इन इंडिया’ पहल के तहत ‘‘बेजोड़’’ अवसर उपलब्ध कराता है और अत्याधुनिक वायु शक्ति भविष्य की दिशा में भारत के कदमों को मजबूत करती है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि भारत के लिए लॉकहीड मार्टिन और टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स द्वारा एफ-21 का विनिर्माण भारत में किया जाएगा।

इसे भी पढ़े: इस खिलाड़ी ने जताया पुलवामा शहीदों के लिए सम्मान, समर्पित किया अपना पदक

अमेरिकी रक्षा एवं एयरोस्पेस कंपनी ने पूर्व में भारत को एफ-16 लड़ाकू विमान देने की पेशकश की थी। कंपनी ने कहा कि एफ-21 भारतीय वायुसेना की विशिष्ट जरूरतों को पूरा करता है और भारत को विश्व के सबसे बड़े लड़ाकू विमान तंत्र से जोड़ता है। लॉकहीड मार्टिन एयरोनॉटिक्स के ‘स्ट्रेटेजी एंड बिजनेस डवलपमेंट’ विभाग के उपाध्यक्ष डॉ. विवेक लाल ने कहा कि एफ-21 बिल्कुल भिन्न है।उन्होंने कहा, ‘‘नया (एफ-21) विमान भारतीय वायुसेना को अत्याधुनिक और व्यापक गुणों से युक्त लड़ाकू विमान उपलब्ध कराने की हमारी प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है। यह बेमिसाल औद्योगिक अवसर भी उपलब्ध कराता है और अत्याधुनिक प्रौद्योगिकियों पर भारत-अमेरिका सहयोग की घनिष्ठता को मजबूत करता है।’’





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।