सेना प्रमुख ने चीन को दिया बड़ा संदेश, युद्ध थोपा तो जीत भारत की होगी

सेना प्रमुख ने चीन को दिया बड़ा संदेश, युद्ध थोपा तो जीत भारत की होगी

सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने बुधवार को कहा कि भारतीय सेना पूर्वी लद्दाख में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ दृढ़ता एवं मजबूत तरीके से निपटना जारी रखेगी और वह क्षेत्र में सर्वोच्च स्तर की अभियान संबंधी तैयारियां रख रही है।

भारत चीन बातचीत के बीच सेना की तरफ से बड़ा बयान सामने आया है। जनरल नरवणे ने कहा कि तनाव वाले क्षेत्र से सैनिकों की लौटने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जब ये हो जाएगा तो हम कुछ और सैनिक को उस क्षेत्र से कम कर सकते हैं। जब उस क्षेत्र में तनाव कम हो जाएगा। तब हम सैनिकों को वापस बुलाने के बारे में सोच सकते हैं।  लेकिन तब तक एलएसी से हमारे सैनिक पीछे नहीं हटेंगे। आर्मी चीफ ने कहा कि जब एक बार भरोसा बढ़ेगा तब हम अपने सैनिकों को वापस बुला सकते हैं। 

चीनी सेना से निपटने में अच्छी स्थिति में भारत 

सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे ने बुधवार को कहा कि भारतीय सेना पूर्वी लद्दाख में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के साथ दृढ़ता एवं मजबूत तरीके से निपटना जारी रखेगी और वह क्षेत्र में सर्वोच्च स्तर की अभियान संबंधी तैयारियां रख रही है। जनरल नरवणे ने कहा कि चीन की सेना के जमावड़े के बाद भारत ने भी 25 हजार अतिरिक्त सैनिकों की तैनाता पूर्वी लद्दाख मे की। इसका नतीजा ये हुआ कि भारत पिछले डेढ़ साल के मुकाबले आज चीनी सेना से निपटने में अच्छी स्थिति में है। 

इसे भी पढ़ें: क्या कर्नल अजय कोठियाल की पढ़ी-लिखी सेना पार पाने में होगी कामयाब ? AAP ने अबतक जारी किए 42 उम्मीदवारों के नाम

किसी भी चुनौती से निपटने के लिए हम अच्छी तरह से तैयार

 जनरल नरवणे ने कहा कि यह देखने के लिए काफी प्रयास किए जा रहे हैं कि सभी दोहरे उपयोग वाले बुनियादी ढांचे कौन-कौन से हैं और उनका क्या उपयोग किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यथास्थिति को एकपक्षीय तरीके से बदलने के चीन के प्रयासों पर उनकी सेना की कार्रवाई बहुत त्वरित है। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे सामने पैदा की जा रही किसी भी चुनौती से निपटने के लिए हम अच्छी तरह से तैयार हैं 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...