UP कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ्तारी दुर्भावना से ग्रसित, इंसाफ मिलने तक लड़ेंगे: प्रियंका गांधी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मई 26, 2020   22:35
UP कांग्रेस अध्यक्ष की गिरफ्तारी दुर्भावना से ग्रसित, इंसाफ मिलने तक लड़ेंगे: प्रियंका गांधी

प्रियंका ने एक ट्वीट में कहा महामारी के दौरान उन्हें (लल्लू) बेबुनियाद आरोपों में जेल में डालने से योगी सरकार की अवसरवादी और मनमानीपूर्ण मानसिकता जाहिर होती है।

लखनऊ। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार से गतिरोध के बाद गिरफ्तार किये गये प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के लिये इंसाफ की मांग करते हुए मंगलवार को कहा कि न्याय मिलने तक पार्टी की लड़ाई जारी रहेगी। प्रियंका ने एक ट्वीट में कहा महामारी के दौरान उन्हें (लल्लू) बेबुनियाद आरोपों में जेल में डालने से योगी सरकार की अवसरवादी और मनमानीपूर्ण मानसिकता जाहिर होती है। यह सरकार मानवता के सभी सिद्धांतों का उल्लंघन कर रही है। उन्होंने कहा हम उनके लिये न्याय की मांग करते हैं। हम इंसाफ मिलने तक यह लड़ाई जारी रखेंगे।

इसके पूर्व, प्रदेश कांग्रेस के मीडिया समन्वयक ललन कुमार ने बताया कि पार्टी के प्रान्तीय अध्यक्ष लल्लू की जमानत का मामला सत्र अदालत से विशेष एमपी—एमएलए कोर्ट में स्थानांतरित कर दिया गया है। अब इसकी सुनवाई 28 मई को होगी। प्रवासी मजदूरों को गत 20 मई को उनके गंतव्य तक ले जाने के लिये कांग्रेस द्वारा मंगवाई गयी बसों को राज्य में प्रवेश नहीं करने दिये जाने का विरोध करने पर लल्लू को गिरफ्तार किया गया था। इस बीच, कांग्रेस सेवा दल ने आज प्रदेश में सांकेतिक धरना प्रदर्शन कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की रिहाई की मांग की। 

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की जमानत अर्जी पर सुनवाई 28 मई को

उप्र कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष प्रमोद कुमार पाण्डेय के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने राज्यपाल आनंदी बेन पटेल को सम्बोधित ज्ञापन प्रशासन को सौंपा। ज्ञापन में आरोप लगाया गया है कि लल्लू केवल पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ही नहीं हैं बल्कि वह विधानसभा के सदस्य भी हैं। जेल में उनके मौलिक अधिकारों का हनन हो रहा है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...