अनशन स्थल से प्रशासनिक कामकाज करेंगे केजरीवाल: गोपाल राय

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 25, 2019   09:28
अनशन स्थल से प्रशासनिक कामकाज करेंगे केजरीवाल: गोपाल राय

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने कहा कि पार्टी भूख हड़ताल के लिए तीन से चार संभावित स्थलों का मूल्यांकन कर रही है और अगले दो दिनों में स्थान की घोषणा कर दी जाएगी।

नयी दिल्ली। आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने रविवार को कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अपने अनशन स्थल से ही प्रशाासनिक कामकाज करेंगे। आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने की मांग को लेकर एक मार्च से यहां अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठेंगे। उन्होंने कहा कि पार्टी भूख हड़ताल के लिए तीन से चार संभावित स्थलों का मूल्यांकन कर रही है और अगले दो दिनों में स्थान की घोषणा कर दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें: पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के मुद्दे पर खोखली बात कर रहे हैं केजरीवाल: शीला दीक्षित

पार्टी सूत्रों के मुताबिक, भूख हड़ताल के स्थल के तौर पर रामलीला मैदान, मुख्यमंत्री आवास और जंतर मंतर पर विचार किया जा रहा है। दिल्ली के मंत्री ने कहा कि दिल्ली को 560 जोनों में बांटा गया है और केन्द्रीय, विधानसभा और जोन स्तर पर तीन समितियों का गठन किया गया है। मुख्यमंत्री का अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल स्थल नियंत्रण कक्ष होगा जहां से निर्देश भेजे जाएंगे।

राय ने संवाददाताओं से कहा, ‘भूख हड़ताल एक मार्च सुबह 10 बजे से शुरू होगी और सभी दलों के लोकसभा प्रभारी, मंत्री, विधायक और पार्षद मुख्यमंत्री के साथ शामिल होंगे।’ उन्होंने कहा कि एक से नौ मार्च तक जोनल स्तर पर 560 ‘न्याय यात्राएं’ निकाली जाएंगी। इन यात्राओं में आरडब्ल्यूए, छात्र, शिक्षक, वकील और पेशेवर भी शामिल होंगे। उन्होंने कहा कि नौ मार्च के बाद भूख हड़ताल स्थल पर आप के सभी विधायक भी केजरीवाल के साथ शामिल होंगे।

इसे भी पढ़ें: AAP के साथ गठबंधन नहीं करेंगी शीला दीक्षित, अकेले लड़ेंगी लोकसभा चुनाव

राय ने भाजपा और कांग्रेस पर पूर्ण राज्य के मुद्दे पर दिल्लीवासियों को धोखा देने का आरोप लगाया। उन्होंने आरोप लगाया कि दोनों दलों ने पहले इसकी वकालत की लेकिन अब मुकर गईं। उन्होंने उम्मीद व्यक्त की कि आम चुनाव के बाद महागठबंधन केन्द्र में सरकार बनाएगा और दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देगा।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।