• उज्जैन में सावन के महीने पर निकाली जाने वाली कावड़ यात्रा पर लगा प्रतिबंध

सुयश भट्ट Jul 22, 2021 18:43

उज्जैन में श्रावण मास शुरू होने के पहले ही जिला प्रशासन ने कावड़ यात्रा निकालने पर प्रतिबंध लगा दिया है।25 जुलाई से सावन महीना शुरू हो जाएगा। इसके बाद सावन का महीना 22 अगस्त तक चलेगा। वहीं सावन महीने में भगवान शिव की विशेष रूप से पूजा की जाती है।

भोपाल। मध्य प्रदेश के उज्जैन में श्रावण मास शुरू होने के पहले ही जिला प्रशासन ने कावड़ यात्रा निकालने पर  प्रतिबंध लगा दिया है। प्रभारी कलेक्टर नरेंद्र सूर्यवंशी ने दंड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत आदेश जारी कर जिले की राज्य सीमा में श्रावण मास में निकलने वाली कावड़ यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया है।

इसे भी पढ़ें:एमपी में 31 अक्टूबर तक सप्ताह में पांच दिन ही खुलेंगे सरकारी कार्यालय 

बता दें कि 25 जुलाई से सावन महीना शुरू हो जाएगा। इसके बाद सावन का महीना 22 अगस्त तक चलेगा। वहीं सावन महीने में भगवान शिव की विशेष रूप से पूजा की जाती है। हालांकि राज्य शासन ने जुलूस और धार्मिक यात्राओं को प्रतिबंधित कर दिया है । और इसलिए राज्य शासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए कावड़ यात्रा को अनुमति नहीं दी गई है।

इसे भी पढ़ें:बदलते मौसम के चलते राजधानी के अस्पतालों में बढ़ रहे है मरीज 

दरअसल सावन के सभी सोमवार और भादौ मास की अमवस्या से पहले आने वाले सोमवार को भी महाकाल की सवारी निकाली जाती है। वहीं बड़े पैमाने पर महाकाल मंदिर से राजा महाकाल की सवारी निकाली जाती है। इसमे शामिल होने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उज्जैन पंहुचते है।