WB के राज्यपाल धनखड़ का दावा: ममता ने उनके लिए कहा- ''तू चीज बड़ी है मस्त मस्त''

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 28, 2019   08:31
WB के राज्यपाल धनखड़ का दावा: ममता ने उनके लिए कहा- ''तू चीज बड़ी है मस्त मस्त''

राज्यपाल धनखड़ ने एक ट्वीट में एक बांग्ला अखबार की खबर को साझा किया है। इस खबर में कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल के बारे में बात करते हुए बिना उनका नाम लिए हुए कहा ‘‘तू चीज बड़ी है मस्त मस्त।’’

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा में तृणमूल सरकार और राज्यपाल के बीच तल्खी दिखने के बाद, जगदीप धनखड़ ने बुधवार को सिलसिलेवार ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर निशाना साधा और कहा कि मुख्यमंत्री ने उनके लिए कथित रूप से कहा ‘‘तू चीज बड़ी है मस्त मस्त।’’

इसे भी पढ़ें: संविधान दिवस पर बोलीं ममता, हमें इसके प्रत्येक शब्द को अमल में लाना चाहिए

राज्यपाल धनखड़ ने एक ट्वीट में एक बांग्ला अखबार की खबर को साझा किया है। इस खबर में कहा गया है कि मुख्यमंत्री ने राज्यपाल के बारे में बात करते हुए बिना उनका नाम लिए हुए कहा ‘‘तू चीज बड़ी है मस्त मस्त।’’ यह 1994 में आयी एक मशहूर फिल्म ‘मोहरा’ का गाना है। राज्यपाल ने ट्वीट किया, ‘‘अखबार में 27 नवंबर को खबर छपी। इसमें विधानसभा में संविधान दिवस का उल्लेख किया गया। सम्मानीय मुख्यमंत्री ने राज्यपाल के लिए कहा ‘तू चीज बड़ी है मस्त मस्त।’ मैंने इसका जवाब देना सही नहीं समझा क्योंकि मैं उनके पद का सम्मान करता हूं।’

इसे भी पढ़ें: ममता के आरोपों का राज्यपाल ने दिया जवाब, बोले- कुछ लोग जुबान पर लगाम नहीं लगा रहे

राज्यपाल धनखड़ ने बुधवार दोपहर एक अन्य ट्वीट में एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें मुख्यमंत्री संविधान दिवस पर कार्यक्रम के समापन के बाद संवाददाताओं से बात कर रही थीं। धनखड़ ने ट्वीट में कहा, ‘‘मैंने कभी सम्मान देने में कोई कमी नहीं की, चाहे वह माननीय मुख्यमंत्री ही क्यों न हों। मैं उनका व्यक्तिगत रूप से काफी सम्मान करता हूं।’’ भारतीय संविधान को अंगीकृत करने के 70 साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित संविधान दिवस पर आहूत विशेष सत्र के दौरान उनके बीच कोई सीधी बातचीत नहीं हुई।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।