फर्जी नोटशीट मामले में भोपाल क्राइम ब्रांच ने 30 अधिकारियों को भेजा नोटिस

फर्जी नोटशीट मामले में भोपाल क्राइम ब्रांच ने 30 अधिकारियों को भेजा नोटिस

फर्जी नोटशीट वाले मामले को लेकर क्राइम ब्रांच सख्त हो गया है। भोपाल सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत 4 सांसद और 1 विधायक की फर्जी नोटशीट से ट्रांसफर मामले में क्राइम ब्रांच ने 30 अधिकारियों को क्राइम ब्रांच ने नोटिस भेजा है।

भोपाल। मध्य प्रदेश में फर्जी नोटशीट वाले मामले को लेकर क्राइम ब्रांच सख्त हो गया है। भोपाल सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत 4 सांसद और 1 विधायक की फर्जी नोटशीट से ट्रांसफर मामले में क्राइम ब्रांच ने 30 अधिकारियों को क्राइम ब्रांच ने नोटिस भेजा है। क्राइम ब्रांच  रविवार को सभी कर्मचारियों से पूछताछ भी करेगी।

इसे भी पढ़ें:महंगाई के पीछे नेहरू का हाथ, विश्वास सारंग का दावा, कांग्रेस बोली- मानसिक संतुलन खो बैठे हैं 

आपको बता दें कि मामले में क्राइम ब्रांच ने राजस्व, शिक्षा और स्वास्थ्य से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों को नोटिस भेजा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ऑफिस से मिली शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच ने जांच तेज कर दी है।

दरअसल भोपाल सांसद समेत 3 सांसदों और 1  विधायक की अनुशंसा की फर्जी नोटशीट सीएम हाउस तक पहुंच गई थी। संदेह होने पर संबंधित सांसदों और विधायक से बात की गई तब इस मामले का खुलासा हुआ था। जिसके बाद सीएम हाउस से भोपाल क्राइम ब्रांच को शिकायत की गई।

इसे भी पढ़ें:कांग्रेस का दावा , प्रदेश में जल्द ही निकल सकती है मुख्यमंत्री पद की गोपनीय वेकैंसी 

जानकारी मिली है कि सीएम हाउस से धोखाधड़ी किए जाने की शिकायत मिली थी। जिसमें स्वास्थ्य विभाग, स्कूल शिक्षा और राजस्व विभाग के करीब 12 कर्मचारियों के ट्रांसफर की नोटशीट भेजी गई थी। इसमें भोपाल सांसद प्रज्ञा, राजगढ़ सांसद रोडमल नागर, देवास सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी और रायसेन जिले के सिलवानी विधायक रामपाल सिंह का नाम शामिल है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।