Twitter ने भारत में गंवाया कानूनी सुरक्षा का आधार, गाजियाबाद में बुजुर्ग की पिटाई मामले में ट्विटर पर FIR दर्ज

Twitter ने भारत में गंवाया कानूनी सुरक्षा का आधार, गाजियाबाद में बुजुर्ग की पिटाई मामले में ट्विटर पर FIR दर्ज

एक सरकारी सूत्र के हवाले से कहा, ट्विटर भारत में इंटरमीडरी प्लेटफॉर्म के रूप में अपना स्टेटस खो देगा क्योंकि यह नए दिशानिर्देशों का पालन नहीं करता है। यह मेनस्ट्रीम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में ऐसा अकेला प्लेटफॉर्म है जिसने नए कानूनों का पालन नहीं किया है।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर एकमात्र सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है जिसने भारत सरकार द्वारा लाए गए नए आईटी नियमों का पालन नहीं किया है। समाचार एजेंसी एएनआई ने एक सरकारी सूत्र के हवाले से कहा, ट्विटर भारत में इंटरमीडरी प्लेटफॉर्म के रूप में अपना स्टेटस खो देगा क्योंकि यह नए दिशानिर्देशों का पालन नहीं करता है। यह मेनस्ट्रीम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में ऐसा अकेला प्लेटफॉर्म है जिसने नए कानूनों का पालन नहीं किया है। 

आपको बता दें कि गाजियाबाद जिले में एक बुजुर्ग मुस्लिम व्यक्ति की पिटाई कर दाढ़ी काटने के आरोप में पुलिस ने ट्वीटर समेत फैक्ट चेकर अल्ट न्यूज के खिलाफ मामला दर्ज कर दिया है। आरोप है कि सोशल मीडिया ट्वीटर ने जानबूझ कर भ्रामक वीडियो और खबरें फैलाने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाया है। इस आरोप में गाजियाबाद पुलिस ने 9 लोगों पर FIR दर्ज की है। इसमें दर्ज नाम- राणा अयूब, जुबेर अहमद, सलमान निजामी, मसकूर उस्मानी, डॉ. समा मोहम्मद, सबा नकवी शामिल हैं।

सरकार का ट्वीटर पर हमला!

ट्विटर पर आरोप है कि इस मंच ने एक वीडियो प्रचारित किया है जिसमें एक मुस्लिम को निशाना बनाया गया है। उसकी पिटाई और जबरन दाढ़ी काटने का आरोप लगाया गया है।जानकारी के मुताबिक, ट्वीटर ऐसे वीडियो को और भ्रामक खबरों को मैनिपुलेटेड करार देता है लेकिन इस मंच ने इस वीडियो को लेकर ऐसा कुछ नहीं किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।