रवींद्र रैना बोले- जनता के सहयोग से नया और सुंदर जम्मू कश्मीर बनाने जा रही है भाजपा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अप्रैल 25, 2022   17:32
रवींद्र रैना बोले- जनता के सहयोग से नया और सुंदर जम्मू कश्मीर बनाने जा रही है भाजपा
Twitter

भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रैना ने रविवार को प्रधानमंत्री के भाषण में पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने और जल्द विधानसभा चुनाव कराने का कोई उल्लेख नहीं होने संबंधी कांग्रेस और अन्य दलों की आलोचनाओं को भी खारिज कर दिया।

जम्मू। सांबा जिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को सुनने के लिए बड़ी संख्या में उमड़ने पर लोगों का आभार जताते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता रवींद्र रैना ने सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी स्थानीय जनता के सहयोग से एक ‘नया और सुंदर’ जम्मू कश्मीर बनाएगी। भाजपा की जम्मू कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रैना ने रविवार को प्रधानमंत्री के भाषण में पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल करने और जल्द विधानसभा चुनाव कराने का कोई उल्लेख नहीं होने संबंधी कांग्रेस और अन्य दलों की आलोचनाओं को भी खारिज कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री की ऐतिहासिक रैली के बाद उनका (विपक्षी दलों का) दर्द समझ में आता है।’’ 

इसे भी पढ़ें: History Revisited: महानायक की कश्मीर कुर्बानी की अनसुनी कहानी, डॉ. मुखर्जी को 'जहरीला' इंजेक्शन किसने लगाया?

प्रधानमंत्री मोदी ने रविवार को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर सांबा जिले की पल्ली पंचायत में रैली को संबोधित किया था। वह अगस्त 2019 में संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधान समाप्त किये जाने के बाद पहली बार जम्मू कश्मीर में किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में पहुंचे थे। रैना ने कहा, ‘‘रैली में बड़ी संख्या में आने वाले लोगों के प्रति हम आभारी है। यह प्रधानमंत्री के लिए उनका प्यार और सम्मान दिखाता है जिनके दिल में जम्मू कश्मीर के लिए विशेष स्थान है।’’ इस दौरान रैना के साथ पूर्व उप मुख्यमंत्री कवींद्र गुप्ता समेत अन्य पार्टी नेता भी थे। 

इसे भी पढ़ें: वैष्णो देवी से कन्याकुमारी तक का रोड ट्रिप करना चाहते हैं आनंद महिंद्रा, PM मोदी से की यह खास अपील

रैना ने यहां पार्टी मुख्यालय में संवाददाताओं से बातचीत में अनेक विकास परियोजनाओं के शिलान्यास तथा जम्मू कश्मीर के युवाओं को प्रधानमंत्री के संदेश का उल्लेख किया। उन्होंने कहा, ‘‘जम्मू कश्मीर की जनता मोदी जी के साथ खड़ी है, चाहे हिंदू हों या मुसलमान हों, सिख या ईसाई हों, शहरों के निवासी हों या गांवों में रहने वाले हों, पहाड़ी भाषी हों या गुज्जर और बकरवाल हों, शरणार्थी हों या सीमावर्ती क्षेत्रों के निवासी हों अथवा अन्य आरक्षित श्रेणियों एवं वंचित समुदायों के लोग हों।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...