भाजपा लोगों को उत्तर-दक्षिण के विभाजन का ‘टूलकिट’ थमा रही है : कांग्रेस

Congress
राहुल गांधी के केरल में दिये गये भाषण को लेकर भाजपा नेताओं द्वारा उन पर हमले के एक दिन बाद कांग्रेस ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने लोगों से सबसे सार्थक आह्वान किया है, जबकि भाजपा उत्तर-दक्षिण के विभाजन का ‘टूलकिट’ लोगों को बेच रही है।

नयी दिल्ली। राहुल गांधी के केरल में दिये गये भाषण को लेकर भाजपा नेताओं द्वारा उन पर हमले के एक दिन बाद कांग्रेस ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने लोगों से सबसे सार्थक आह्वान किया है, जबकि भाजपा उत्तर-दक्षिण के विभाजन का ‘टूलकिट’ लोगों को बेच रही है। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बुधवार को आरोप लगाया कि भाजपा आम लोगों से जुड़े मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए हर दिन ‘‘सतही’’ मुद्दों को उठा रही है। सुरजेवाला के इन आरोपों से एक दिन पहले ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं और केंद्रीय मंत्रियों ने गांधी को ‘अवसरवादी’ बताते हुए आरोप लगाया था कि उन्होंने केरल में अपने भाषण के दौरान उत्तर भारतीयों का अपमान किया।

इसे भी पढ़ें: लैपटॉप, टैबलेट, पीसी के विनिर्माण को प्रोत्साहन देने के लिए पीएलआई योजना को मंजूरी

तिरुवनंतपुरम में सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा था, ‘‘पहले 15 साल मैं उत्तर भारत से सांसद रहा। इसलिए मुझे अलग तरह की राजनीति की आदत हो गई थी। मेरे लिए केरल आना नया अनुभव था क्योंकि मैंने देखा कि लोग मुद्दों में दिलचस्पी रखते हैं, सिर्फ दिखावे के लिए नहीं बल्कि गहनता से उस पर विचार करते हैं।’’ गांधी की इस टिप्पणी का उल्लेख करते हुए सुरजेवाला ने कहा कि पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने लोगों को सर्वोपरि रखते हुए सबसे सार्थक आह्वान किया है कि वे आज की सरकार चाहे वह केंद्र की सरकार हो या राज्य की, उससे आम लोगों से जुड़े सवाल करें और ‘‘भाजपा द्वारा हर दिन फैलाये जाने वाले ‘टूलकिट’ जैसे सतही मुद्दों को नजरअंदाज करें।’’

इसे भी पढ़ें: गुजरात नगर निगम चुनाव में कांग्रेस की हार लोकतंत्र के लिए नुकसानदेह: संजय राउत

उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘उत्तर-दक्षिण के विभाजन का मुद्दा भाजपा द्वारा समाचार चैनलों और लोगों के लिए जारी ‘टूलकिट’ है। आइये हम सब यह सुनिश्चित करें कि आज की यह सरकार मुद्दों पर बात करे न कि लोगों का ध्यान बांटने वाली उनकी सतही बातों पर।’’ सुरजेवाला ने कहा कि देश के सामने वास्तविक मुद्दे सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का गिरना और सभी लघु एवं मझोले कारोबारों का ‘‘बर्बाद’’ होना है। उन्होंने कहा, ‘‘इस देश में मुद्दा यह है कि संविधान खतरे में है और लोग केंद्र एवं भाजपा शासित कई राज्यों में निशाने पर हैं।’’ सुरजेवाला ने कहा कि वास्तविक मुद्दा यह है कि लोग विरोध या असहमति जताने और अभिव्यक्त करने का ‘‘अपना अधिकार खो’’ चुके हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘यह दिल्ली की सीमाओं पर बैठे करोड़ों किसानों का मुद्दा है, लेकिन ये अहंकारी, असंवेदनशील सरकार उन्हें सुनने से इनकार कर रही है। 250 किसानों की मौत हुई है लेकिन वह उन्हें (किसानों) सुनने को तैयार नहीं है।’’ सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि संविधान, नागरिक स्वतंत्रता और लोकतंत्र के सभी संस्थान ‘‘खतरे’’ में हैं, जो एक महत्वपूर्ण मुद्दा है। उन्होंने कहा, ‘‘यह भी एक मुद्दा है कि भाजपा जनादेश को खरीदती है, वे हर दिन लोगों के जनादेश को दबाते हैं उन्हें कुचलते हैं...मुद्दा यह है कि जो लोग सत्ता में हैं वे सतही मुद्दे उठाकर लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं।’’ सुरजेवाला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य भाजपा नेताओं द्वारा विपक्ष को निशाना बनाने के लिए दिए गए बयानों का हवाला देते हुए कहा कि वास्तविक मुद्दों से लोगों का ध्यान हटाने की कोशिश की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़