विधायकों की ‘थोक के भाव’ खरीद-फरोख्त में शामिल है भाजपा: सिद्धरमैया

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 23 2019 7:20PM
विधायकों की ‘थोक के भाव’ खरीद-फरोख्त में शामिल है भाजपा: सिद्धरमैया
Image Source: Google

उन्होंने कहा कि भाजपा को 105 विधायकों के साथ मजबूत विपक्ष के तौर पर काम करना चाहिए था लेकिन उन्होंने गलत तरीके अपना कर पिछले दरवाजे से सरकार बनाने की कोशिश की।

बेंगलुरु। कांग्रेस नेता सिद्धरमैया ने मंगलवार को भाजपा पर कर्नाटक की कुमारस्वामी सरकार को गिराने और रिश्वत तथा विधायकों को ‘थोक के भाव खरीद’कर पिछले दरवाज़े से सत्ता में आने का प्रयास करने का आरोप लगाया। सिद्धरमैया ने विश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए आरोप लगाया कि ‘‘विधायकों कोप्रलोभन देने के लिए 20,25 और 30 करोड़ रुपये की पेशकश की गई’’ तथा पूछा, ‘‘ये पैसा कहां से आया?’’ कांग्रेस विधायक दल के नेता और कांग्रेस-जदएस गठबंधन समन्वय समिति के अध्यक्ष ने कहा, ‘‘ यह राज्य के राजनीतिक इतिहास पर काला धब्बा है।’’



 
सिद्धरमैया ने कहा, ‘‘ सब... 99 फीसदी लोग जानते हैं कि इसके (सरकार गिराने के) पीछे भाजपा है। यह खुल कर कहिए।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘आपको लगता है कि आप लोकतंत्र की हत्या करके सत्ता में आ जाएंगे तो यह आपको उल्टा पड़ेगा। अगर येदियुरप्पा सरकार बना भी लें तो भी आप छह महीने या एक साल के लिए ही सत्ता में होंगे।’’ उन्होंने आरोप लगाया कि 15 विधायकों का इस्तीफा कुछ नहीं बल्कि ‘थोक के भाव खरीद फरोख्त’ है। सिद्धरमैया ने कहा, ‘‘ लोकतांत्रिक रूप से निर्वाचित कोई भी सरकार इस तरह के थोक के भाव खरीद-फरोख्त से बची नहीं रह सकती है।’’


उन्होंने कहा कि भाजपा को 105 विधायकों के साथ मजबूत विपक्ष के तौर पर काम करना चाहिए था लेकिन उन्होंने गलत तरीके अपना कर पिछले दरवाजे से सरकार बनाने की कोशिश की। सिद्धरमैया ने कहा, ‘‘ यह निदंनीय है। दल बदल एक बीमारी है और इसे नियंत्रित करने की जरूरत है।’’ उन्होंने भाजपा से कहा, ‘‘कोई भी आम आदमी निष्कर्ष निकाल सकता है कि इस दल-बदल के पीछे भाजपा है। राज्य के लोग आपको माफ नहीं करेंगे। अगले चुनाव में आपको यह पता लग जाएगा।’’
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Story