भाजपा नेता रूपा गांगुली ने बंगाल ट्रेन दुर्घटना की सीबीआई जांच कराने की मांग की

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 15, 2022   08:21
भाजपा नेता रूपा गांगुली ने बंगाल ट्रेन दुर्घटना की सीबीआई जांच कराने की मांग की

भारतीय जनता पार्टी की नेता रूपा गांगुली नेपश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी में बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की घटना की सीबीआई जांच कराने की शुक्रवार को मांग की। साथ ही, उन्होंने दावा किया कि वर्षों से ट्रेनों के बारे में कोई बुरी खबर नहीं आई थी।

कोलकाता। भारतीय जनता पार्टी की नेता रूपा गांगुली ने पश्चिम बंगाल के जलपाइगुड़ी में बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस के पटरी से उतरने की घटना की सीबीआई जांच कराने की शुक्रवार को मांग की। साथ ही, उन्होंने दावा किया कि वर्षों से ट्रेनों के बारे में कोई बुरी खबर नहीं आई थी, लेकिन विधानसभा चुनावों से ठीक पहले यह दुर्घटना हुई है। उत्तर प्रदेश, पंजाब, मणिपुर, उत्तराखंड और गोवा में अगले महीने से विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। हालांकि, पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने कहा कि इस तरह की घटना पर कोई विवाद नहीं होना चाहिए और जांच पूरी होने के बाद ही दुर्घटना के कारणों का पता चल पाएगा।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर का अनसुलझा विवाद भारत-पाक संबंधों में बाधा उत्पन्न करता है :पाक की नयी सुरक्षा नीति

बृहस्पतिवार को पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के अलीपुरद्वार उपमंडल में दोमोहानी के निकट बीकानेर-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने से कम से कम नौ लोगों की मौत हो गई और 36 अन्य घायल हो गए। गांगुली ने अपने आधिकारिक फेसबुक अकाउंट पर लिखा, क्या ट्रेन खुद पटरी से उतर सकती है? क्या रेल पटरी यह जानती थी कि चुनाव होने वाले हैं?

इसे भी पढ़ें: लोगों ने जम्मू कश्मीर में सूर्य नमस्कार किया, विभिन्न समूहों ने प्रशासन के कदम की आलोचना की

वर्षों से ट्रेनों के बारे में कोई बुरी खबर नहीं आई थी। सीबीआई जांच का आदेश दिया जाना चाहिये। किसी को लोगों की जान से नहीं खेलना चाहिये। एनएफआर के अनुसार दुर्घटना के समय ट्रेन में 1,053 यात्री सवार थे।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।