• जनसंख्या नियंत्रण बिल पर बोले भूपेश बघेल, भाजपा ने नसबंदी कार्यक्रम का किया था विरोध

मुख्यमंत्री ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने से समस्या का समाधान नहीं होने वाला है। इसके लिए जागरुकता फैलाने की जरूरत है।

रायपुर। देश में जनसंख्या विस्फोट पर लगाम लगाने की कवायद शुरू हो चुकी है। असम के बाद उत्तर प्रदेश भी जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर आगे बढ़ गया है और कई राज्यों में भी जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाए जाने की मांग उठ रही है। इसी बीच छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का बड़ा बयान सामने आया है। 

इसे भी पढ़ें: जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने चली BJP के UP में 50 फीसदी विधायकों के तीन या ज्यादा बच्चे 

मुख्यमंत्री ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने से समस्या का समाधान नहीं होने वाला है। इसके लिए जागरुकता फैलाने की जरूरत है।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक  जनसंख्या नियंत्रण बिल पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि भाजपा ने ही नसबंदी के कार्यक्रम का विरोध किया था, अगर 70 के दशक में नसबंदी को आगे बढ़ाते तो आज जनसंख्या इतनी नहीं बढ़ी होती। जनसंख्या नियंत्रण का कानून बनाने से समस्या का हल नहीं होगा, जब तक लोगों में जागरूकता नहीं हो। 

इसे भी पढ़ें: जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर मायावती ने उठाए सवाल, बताया चुनावी स्वार्थ 

गौरतलब है कि सत्ताधारी पार्टी भाजपा की सहयोगी पार्टी जदयू के नेता नीतीश कुमार ने भी जागरुकता फैलाने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि बहुत लोगों को लगता है कि केवल कानून बना देंगे और उससे हो (जनसंख्या पर नियंत्रण) जाएगा। वह उनकी सोच है। हमारी स्पष्ट सोच है कि सिर्फ कानून से नहीं बल्कि महिलाओं का शिक्षित होना सबसे अधिक जरूरी है। कई ऐसे उदाहरण हैं कि पढ़े-लिखे लोग भी कई बच्चे पैदा करते हैं। सबकी अपनी-अपनी सोच है।