गुजरात के लिए भाजपा ने तैयार किया एक और बड़ा मेगा प्लान, 1 दिन में भगवा पार्टी करेगी 93 जनसभाएं

BJP
ANI
अंकित सिंह । Nov 21, 2022 7:35PM
भाजपा इन रैलियों को अलग अलग तरीके से करने की तैयारी में है। पार्टी को उम्मीद है कि कुछ रैलियों में 3000 से 5000 लोग आएंगे तो कुछ रैलियों में 20000 से अधिक लोग शामिल होंगे। इस प्रचार के दौरान भी भाजपा की ओर से बड़े नेता चुनावी प्रचार में होंगे।

गुजरात चुनाव में भाजपा सत्ता वापसी के लिए पूरी तरीके से जुटी हुई है। भूपेंद्र पटेल की अगुवाई में भाजपा का दावा है कि एक बार फिर से राज्य में पार्टी सरकार बनाने जा रही है। इन सबके बीच गुजरात में 89 सीटों के लिए प्रचार जोरों पर है। इन 89 सीटों पर 1 दिसंबर को विधानसभा के लिए वोट डाले जाएंगे। लेकिन भगवा पार्टी की ओर से दूसरे चरण के लिए भी मेगा प्लान तैयार कर लिया गया है। खबर के मुताबिक 22 नवंबर यानी कि मंगलवार को भाजपा एक साथ दूसरे चरण की 93 सीटों पर चुनाव प्रचार करने का प्लान बना चुकी है। बीजेपी इसमें शक्ति प्रदर्शन भी करने की कोशिश कर रही है। इससे पहले भाजपा ने एक साथ 89 सीटों पर प्रचार किया था। अब ठीक वैसा ही प्लान दूसरे चरण के 93 सीटों के लिए है। 

इसे भी पढ़ें: Gujarat Election: मोरबी घटना पर राहुल ने भाजपा को घेरा, बोले- जो जिम्मेदार हैं उनके खिलाफ कुछ नहीं हुआ

भाजपा इन रैलियों को अलग अलग तरीके से करने की तैयारी में है। पार्टी को उम्मीद है कि कुछ रैलियों में 3000 से 5000 लोग आएंगे तो कुछ रैलियों में 20000 से अधिक लोग शामिल होंगे। इस प्रचार के दौरान भी भाजपा की ओर से बड़े नेता चुनावी प्रचार में होंगे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृहमंत्री अमित शाह, महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और कई केंद्रीय नेता शामिल होंगे। भाजपा फिलहाल गुजरात में 27 वर्षों से सत्ता में है। वह सातवें कार्यकाल के लिए अपनी किस्मत आजमा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद 2001 से 2014 तक गुजरात में सबसे लंबे समय तक मुख्यमंत्री रहे थे। 

इसे भी पढ़ें: गुजरात में राहुल गांधी ने किया प्रचार का आगाज, आदिवासी, युवा, और किसानों का उठाया मुद्दा

2017 के चुनाव में भाजपा गुजरात में कुछ खास कमाल नहीं कर सकी थी। हालांकि, बहुमत के साथ उसने सरकार जरूर बनाया था। भाजपा को 2017 सिर्फ 99 सीटों पर जीत मिली थी। यही कारण है कि पार्टी की ओर से 140 से अधिक सीटों पर विजय का लक्ष्य लेकर चला गया है। गुजरात में भाजपा को कांग्रेस और आम आदमी पार्टी से कड़ी चुनौती मिल रही है। इसके अलावा गुजरात में भाजपा काफी लंबे समय से सरकार में है। इसलिए कहीं ना कहीं पार्टी के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी का भी माहौल बन जाता है। हालांकि, पार्टी ने इस बार भी बड़े तादाद में पूर्व विधायकों के टिकट काटे हैं। 

अन्य न्यूज़