यूपी में भाजपा ने दिखाई गठबंधन की ताकत, पर सीट बंटवारे को लेकर अब भी बहुत कुछ साफ नहीं

यूपी में भाजपा ने दिखाई गठबंधन की ताकत, पर सीट बंटवारे को लेकर अब भी बहुत कुछ साफ नहीं

इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा तथा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और केंद्रीय मंत्री व उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धमेंद्र प्रधान के अलावा अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद भी मौजूद रहे।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा लगातार बैठक कर रही है। आज दिल्ली में भाजपा कार्यालय में एक बड़ी बैठक हुई। इस बैठक में भाजपा के अलावा उत्तर प्रदेश में उसके सहयोगी दल यानी कि अपना दल (एस) और निषाद पार्टी शामिल रहे। नेताओं की बात करे तो इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, दोनों उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा तथा प्रदेश भाजपा अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और केंद्रीय मंत्री व उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धमेंद्र प्रधान के अलावा अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद भी मौजूद रहे। इस बैठक के बाद भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने दावा किया कि उत्तर प्रदेश में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन यानी कि एनडीए अपने सहयोगी पार्टी अपना दल (एस) और निषाद पार्टी के साथ मिलकर 403 सीटों पर विधानसभा चुनाव लड़ेगा।

हालांकि ना तो जेपी नड्डा की ओर से और ना ही उसके बाद संवाददाताओं को संबोधित करने वाले नेताओं ने सीट बंटवारे को लेकर कोई घोषणा की। लेकिन जेपी नड्डा ने यह जरूर कहा कि सीट बंटवारे को लेकर जल्द ही आपको जानकारी दी जाएगी। जेपी नड्डा ने अपने संबोधन में इस बात का भी विश्वास दिलाया कि आने वाले विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में एनडीए विशाल बहुमत हासिल करने जा रहा है। उन्होंने कहा कि अपने सहयोगी दलों के साथ यूपी में फिर से भाजपा का कमल खिलेगा। भले ही भाजपा की ओर से अपनी ताकत दिखाने की कोशिश की गई हो। लेकिन ऐसा लग रहा है कि आप भी सीट बंटवारे पर फाइनल डील होना बाकी है। दावा किया जा रहा है कि सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत हो चुकी है। लेकिन औपचारिक ऐलान कब किया जाएगा इसका इंतजार करना होगा।

इसे भी पढ़ें: विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा कार्यालय में हुई पार्टी की बड़ी बैठक, देखें कुछ तस्वीरें

शायद भाजपा किसी रणनीति के तहत काम कर रही है। अखिलेश यादव की ओर से भी आप तक ओमप्रकाश राजभर की पार्टी को दी जाने वाली सीटों का ऐलान नहीं किया गया है। सीट बंटवारे को लेकर जब अपना दल के अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा सीटों की चर्चा सार्थक दिशा में आगे बढ़ रही है। हम ज़ल्द ही सीटों की संख्या को सार्वजनिक करेंगे। 10 मार्च को उत्तर प्रदेश में एक बार फिर NDA की मज़बूत सरकार बनेगी। जिन सीटों पर हम जीत सकते हैं, उन सीटों पर हमारी पार्टी चुनाव लड़ेगी। पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश में विकास और सामाजिक न्याय का संयोजन एक बेहतरीन कॉकटेल साबित हुआ है। उत्तर प्रदेश को विकास की भी आवश्यकता है और सामाजिक न्याय की भी जरूरत है।

इसे भी पढ़ें: UP Election 2022: EC ने उम्मीदवारों के लिए तय किए चाय-समोसे से लेकर मर्सिडीज और BMW तक के रेट, आप भी जरा डालिए नजर

वही संजय निषाद दावा कर रहे हैं कि एनडीए में सीट बंटवारा फिलहाल कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। सीट शेयरिंग को लेकर सब कुछ फाइनल कर लिया गया है। फिलहाल सीट को लेकर कोई बात नहीं हो रही है। मंथन तो सिर्फ जीत को लेकर हो रही है। संजय निषाद ने इस अवसर पर उत्तर प्रदेश व केंद्र की पूर्ववर्ती सरकारों पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि उन्होंने समाज के पिछड़े तबकों को सिर्फ छलने और विकास से दूर रखने का काम किया जबकि भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र व राज्य की सरकारों ने बिना किसी भेदभाव के उनका वास्तविक विकास किया। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में विधानसभा के चुनाव होने हैं। भाजपा ने पहले और दूसरे चरण के लिए लगभग 110 नामों की सूची जारी कर चुकी है। पहले और दूसरे चरण के लिए बनाए गए उम्मीदवारों में ज्यादातर टिकट भाजपा ने ओबीसी, एससी और महिलाओं को आवंटित किए हैं। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...