भाजपा ने हिंदुओं की पीठ में छुरा घोंपा, हिंदू महासभा का पार्टी पर हमला

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  सितंबर 18, 2021   17:52
भाजपा ने हिंदुओं की पीठ में छुरा घोंपा, हिंदू महासभा का पार्टी पर हमला

कर्नाटक हिंदू महासभा के सचिवधर्मेंद्र ने शनिवार को कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने मैसूरु में एक प्राचीन मंदिर को ध्वस्त करने की अनुमति देकर हिंदुओं की पीठ में छुरा घोंपा है और अब इस लड़ाई में संघ परिवार का इस्तेमाल कर अपनी हरकतों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है।

मंगलुरु। कर्नाटक हिंदू महासभा के सचिवधर्मेंद्र ने शनिवार को कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने मैसूरु में एक प्राचीन मंदिर को ध्वस्त करने की अनुमति देकर हिंदुओं की पीठ में छुरा घोंपा है और अब इस लड़ाई में संघ परिवार का इस्तेमाल कर अपनी हरकतों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रही है। उन्होंने यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि मंदिर ध्वस्त किये जाने के खिलाफ संघ के संगठनों की लड़ाई भाजपा सरकार की नाकामियों को छिपाने की कोशिश है। उन्होंने कहा, “हमें यह लड़ाई लड़ रहे संघ परिवार पर दया आती है।

इसे भी पढ़ें: AAP नेता राघव चड्ढा पर भड़कीं राखी सावंत, पति भी आए सपोर्ट में, जानिए पूरा मामला

अगर वे अपनी लड़ाई के प्रति ईमानदार हैं, तो उन्हें आने वाले चुनावों में भाजपा को हराना चाहिए और हिंदू महासभा का समर्थन करना चाहिए, जो हिंदुत्व पर आधारित की पार्टी है। उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उच्चतम न्यायालय के आदेश को मंदिर गिराने का कारण बता रही है। साथ ही वे अन्य समुदायों के अवैध धार्मिक ढांचों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: प्रदेश में शुरू हुई उज्जवला योजना 2.0 , शाह ने कहा - कांग्रेस ने बंद की 17 योजनाएं

धर्मेंद्र ने कहा कि भाजपा सरकार का विरोध करने वाले हिंदू संगठनों को खुले तौर पर यह रुख अपनाना चाहिए कि वे भविष्य में पार्टी का समर्थन नहीं करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर मंदिरों पर हमले जारी रहे तो हिंदू महासभा भाजपा और राज्य की रीढ़विहीन सरकार को नहीं बख्शेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।