सिद्धू के इस्तीफे पर भाजपा का तंज, संबित पात्रा बोले- Students के आने से पहले 'गुरु' चला गया

सिद्धू के इस्तीफे पर भाजपा का तंज, संबित पात्रा बोले- Students के आने से पहले 'गुरु' चला गया

अपने ट्वीट में जिस दो के आने की बात संबित पात्रा कर रहे हैं वह दरअसल कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी है जिन्हें आज ही कांग्रेस में शामिल कराया जाना है। इसके लिए दिल्ली में एक भव्य कार्यक्रम भी रखा गया है तो वही एक चला गया मतलब नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा है।

कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे और चरणजीत सिंह चन्नी के मुख्यमंत्री बनने के बाद ऐसा लग रहा था कि पंजाब में कांग्रेस का विवाद अब सुलझ जाएगा। लेकिन ऐसा होता दिखाई नहीं दे रहा है। अचानक आज नवनियुक्त प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद से नवजोत सिंह सिद्धू ने अपना इस्तीफा दे दिया। इसके बाद से एक बार फिर से पंजाब में कांग्रेस की स्थिति को लेकर चर्चा तेज हो गई है। इन सबके बीच भाजपा ने कांग्रेस पर तंज कसा है। भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद ट्वीट कर कहा कि वह दो आए नहीं... एक चला गया... छा गए गुरु। इसके अलावा उन्होंने लिखा कि “Students” के आने से पहले “गुरु” चला गया।

अपने ट्वीट में जिस दो के आने की बात संबित पात्रा कर रहे हैं वह दरअसल कन्हैया कुमार और जिग्नेश मेवानी है जिन्हें आज ही कांग्रेस में शामिल कराया जाना है। इसके लिए दिल्ली में एक भव्य कार्यक्रम भी रखा गया है तो वही एक चला गया मतलब नवजोत सिंह सिद्धू का इस्तीफा है। कहीं ना कहीं पंजाब में विपक्ष को कांग्रेस पर तंज कसने का सिद्धू ने बड़ा मौका दे दिया है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में सिद्धू ने कहा है किवह पार्टी की सेवा करना जारी रखेंगे। सिद्धू ने इसी साल जुलाई में पार्टी की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष का पद संभाला था। 

इसे भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, नवजोत सिंह सिद्धू ने दिया प्रदेश अध्यक्ष पद से इस्तीफा

अब तक यह पता नहीं चल पाया है कि सिद्धू को किस कारण पंजाब कांग्रेस प्रमुख का पद छोड़ना पड़ा है। वहीं अमरिंदर लगातार सिद्धू पर हमलावर हैं। इस्तीफा देने के बाद कांग्रेस नेता अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू पर तेज हमला किया था और उन्हें ‘राष्ट्र विरोधी, खतरनाक तथा पूरी तरह विपत्ति’ करार दिया था। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने यह भी कहा कि वह सिद्धू को अगले मुख्यमंत्री के रूप में या आगामी विधानसभा चुनाव में पार्टी के चेहरे के रूप में स्वीकार नहीं करेंगे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।