एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया का बड़ा बयान, कहा- छुआछूत से नहीं फैलता ब्लैक फंगस

एम्स डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया का बड़ा बयान, कहा- छुआछूत से नहीं फैलता ब्लैक फंगस

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ब्लैक संघर्ष को लेकर कहा था कि आज सुबह तक 18 राज्यों में म्यूकर माइकोसिस(ब्लैक फंगस) के 5,424 मामले दर्ज किए गए हैं। गुजरात में 2,165, महाराष्ट्र में 1,188, उत्तर प्रदेश में 663, मध्य प्रदेश में 519, हरियाणा में 339, आंध्र प्रदेश में 248 मामले दर्ज किए गए हैं।

कोरोना वायरस महामारी के बीच देश में ब्लैक फंगस के भी मामले सामने आ रहे है। ब्लैक फंगस भी लोगों को अब चपेट में लेने लगा है। इन सबके बीच स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि ब्लैक फंगस संक्रामक बीमारी नहीं है। यानी की ब्लैक फंगस छुआछूत से नहीं फैलता है। एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा कि इम्यूनिटी की कमी के कारण ब्लैक फंगस होता है। यह साइनस, राइनो आर्बिटल और ब्रेन पर असर करता है। छोटी आत में भी देखा गया है। संदीप गुलेरिया ने यह भी कहा कि इसे अलग अलग रंगों से पहचान देना गलत है। उन्होंने कहा कि साफ-सफाई का ध्यान रखें और उबला पानी पिएं। 

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ब्लैक संघर्ष को लेकर कहा था कि आज सुबह तक 18 राज्यों में म्यूकर माइकोसिस(ब्लैक फंगस) के 5,424 मामले दर्ज किए गए हैं। गुजरात में 2,165, महाराष्ट्र में 1,188, उत्तर प्रदेश में 663, मध्य प्रदेश में 519, हरियाणा में 339, आंध्र प्रदेश में 248 मामले दर्ज किए गए हैं। 5,424 मामलों में से 4,556 मामलों में पहले कोविड संक्रमण था और 55% मरीज़ों को डायबिटीज था। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।