BMC चुनाव: क्या सोनू सूद, मिलिंद सोमन और रितेश देशमुख को बनाया जाएगा मेयर उम्मीदवार ? कांग्रेस में मंथन शुरू

Mumbai Congress
अनुराग गुप्ता । Aug 24, 2021 12:53PM
कांग्रेस के रणनीतिक दस्तावेजों में तीनों अभिनेताओं का नाम शामिल किया गया है। जिनमें से कोई भी कांग्रेस के सदस्य नहीं हैं। 25 पन्नों के रणनीति दस्तावेज का मसौदा मुंबई कांग्रेस के सचिव गणेश यादव ने तैयार किया है।

मुंबई। साल 2022 में मुंबई में होने वाले बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) चुनावों के लिए कांग्रेस ने अपनी रणनीतियां बनाना शुरू कर दिया है। बता दें कि कांग्रेस ने मेयर उम्मीदवार पद के लिए कुछ नामों का सुझाव दिया है। जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के बेटे रितेश देशमुख, मॉडल मिलिंद सोमन और अभिनेता सोनू सूद शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने वाले बयान को लेकर बुरे फंसे नारायण राणे, गिरफ्तारी भी हो सकती है 

रणनीतिक दस्तावेज हुआ तैयार

कांग्रेस के रणनीतिक दस्तावेजों में तीनों अभिनेताओं का नाम शामिल किया गया है। जिनमें से कोई भी कांग्रेस के सदस्य नहीं हैं। 25 पन्नों के रणनीति दस्तावेज का मसौदा मुंबई कांग्रेस के सचिव गणेश यादव ने तैयार किया है। हालांकि इसे पार्टी नेताओं के सामने अभी पेश नहीं किया गया है। माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों के भीतर एआईसीसी सचिव एचके पाटिल के सामने पेश किया जा सकता है।

अंग्रेजी समाचार वेबसाइट 'इंडियन एक्सप्रेस' में छपी रिपोर्ट के मुताबिक गणेश यादव ने बताया कि मुंबई कांग्रेस प्रमुख भाई जगताप पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ दस्तावेज पर चर्चा करेंगे। दस्तावेज में सुझाव दिया है कि बीएमसी चुनाव से पहले पार्टी को मेयर उम्मीदवार पद के लिए चेहरे का ऐलान कर देना चाहिए। पार्टी को ऐसे लोगों को मौका देना चाहिए, जिनका कोई भी राजनीतिक बैकग्राउंड नहीं है।

चुनावों में जारी रहेगा गठबंधन ?

दस्तावेज में कहा गया है कि पार्टी को ऐसे लोगों को मौका देना चाहिए, जिनकी युवाओं के बीच में पकड़ है। इसके अलावा कहा गया है कि पार्टी को चुनाव के पहले यह स्पष्ट कर देना चाहिए कि वह शिवसेना के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी या फिर अपने दम पर। आपको बता दें कि महाराष्ट्र में कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के गठबंधन वाली महाविकास अघाड़ी सरकार है। 

इसे भी पढ़ें: महामारी अभी खत्म नहीं हुई, लापरवाही न करें लोग : उद्धव ठाकरे 

दस्तावेज के मुताबिक अगर कांग्रेस अपने दम पर चुनाव लड़ने का फैसला करती है तो उसे तुरंत उन 147 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर देनी चाहिए, जहां पर पार्टी के पार्षद नहीं हैं। इसके साथ ही कांग्रेस को वंचित बहुजन अघाड़ी (वीबीए) और एआईएमआईएम के खिलाफ अभियान की शुरुआत कर देनी चाहिए और इन्हें भाजपा की कोर टीम के तौर पर पेश किए जाने की जरूरत है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़