कोयला खनन मामला: सीबीआई ने संदिग्ध सरगना माझी से की पूछताछ

Coal mining case
सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में घोटाले के कथित सरगना अनूप माझी उर्फ लाला, ईसीएल के महाप्रबंधकों अमित कुमार एवं जयेश चंद्र राय, ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, कुनुस्तोरिया इलाके के सुरक्षा निरीक्षक धनंजय राय और कजोरा इलाके के सुरक्षा प्रभारी देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ मामला दर्ज किया था।
नयी दिल्ली। सीबीआई ने पश्चिम बंगाल के आसनसोल में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों में अवैध कोयला खनन के कथित सरगना अनूप माझी से कोयला घोटाला मामले में मंगलवार को पूछताछ की। उच्चतम न्यायालय ने माझी की गिरफ्तारी पर छह अप्रैल तक के लिये रोक लगा दी थी। न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली पीठ ने कहा था, ‘‘याचिकाकर्ता को छह अप्रैल तक गिरफ्तार नहीं किया जाए। मामले के गुण-दोष पर विचार किये बिना यह आदेश जारी किया गया है। हम स्पष्ट करते हैं कि यह आदेश जांच को प्रतिबंधित नहीं करेगा। 

इसे भी पढ़ें: निठारी कांड के 13वें मामले में सुरेंद्र कोली बरी, 12 केस में मिल चुकी है फांसी की सजा

पीठ ने माझी को जांच में सहयोग करने का निर्देश दिया। करोड़ों रुपये का यह कोयला खनन घोटाला राज्य के कुनुस्तोरिया और कजोरा इलाकों में स्थित ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (ईसीएल) खदानों से संबंधित है। सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में घोटाले के कथित सरगना अनूप माझी उर्फ लाला, ईसीएल के महाप्रबंधकों अमित कुमार एवं जयेश चंद्र राय, ईसीएल के सुरक्षा प्रमुख तन्मय दास, कुनुस्तोरिया इलाके के सुरक्षा निरीक्षक धनंजय राय और कजोरा इलाके के सुरक्षा प्रभारी देबाशीष मुखर्जी के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़