भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर बोले, उन्नाव मामले की हो सीबीआई जांच

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 24, 2021   09:55
भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर बोले, उन्नाव मामले की हो सीबीआई जांच

भीम आर्मी प्रमुख ने आरोप लगाया कि उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार और उसकी पुलिस पर कतई भरोसा नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ न तो कानून-व्यवस्था सुधार पा रहे हैं और ना ही पीड़ित परिवार को न्याय दिला पा रहे हैं।

उन्नाव। भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने उन्नाव के असोहा गांव में पिछले दिनों दो दलित लड़कियों की मौत के मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। चंद्रशेखर ने पिछले 17 फरवरी को असोहा गांव में एक खेत में दो लड़कियों के मृत और एक लड़की के बेसुध पाय जाने के मामले में पुलिस द्वारा किए गए खुलासे पर सवाल उठाते हुए सोमवार को प्रकरण की न्यायिक और सीबीआई जांच की मांग की और कहा कि इससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। 

इसे भी पढ़ें: उन्नाव पीड़िता से मिलने जा रहे भीम आर्मी प्रमुख को पुलिस ने रोका, समर्थकों के साथ धरने पर बैठे 

घटना में बेहोश मिली लड़की का हाल लेने के लिए कानपुर स्थित अस्पताल जाते वक्त रास्ते में उन्नाव के सोहरामऊ इलाके में संवाददाताओं से बातचीत में भीम आर्मी प्रमुख ने आरोप लगाया कि उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार और उसकी पुलिस पर कतई भरोसा नहीं है। उन्होंने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ न तो कानून-व्यवस्था सुधार पा रहे हैं और ना ही पीड़ित परिवार को न्याय दिला पा रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: भीम आर्मी वाले चंद्रशेखर का TIME100 ने माना लोहा, पर घर में अब भी पहचान से दूर 

चंद्रशेखर ने सवाल किया कि क्या मुख्यमंत्री का फर्ज नहीं बनता कि वह पीड़ित परिवार से आकर मुलाकात करें? गौरतलब है कि उन्नाव जिले के असोहा थाना क्षेत्र स्थित बबुरहा गांव में पिछली 17 फरवरी को खेत से चारा काटने गई तीन लड़कियां संदिग्ध परिस्थितियों में बेहोश पाई गई थी। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उनमें से दो को मृत घोषित कर दिया था। तीसरी लड़की को कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने 19 फरवरी को इस मामले में आरोपी विनय कुमार तथा उसके एक नाबालिग साथी को गिरफ्तार कर मामले के खुलासे का दावा किया था। पुलिस के मुताबिक विनय ने यह वारदात एक तरफा प्रेम की वजह से अंजाम दी थी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।